By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

जेडीयू उम्मीदवार के लिए गांव में वोट मांगना महंगा पड़ा विधायक को, भारी विरोध के बाद बैरंग लौटे

;

- sponsored -

चुनावी मौसम में नेता अक्सर गांव और कस्बो की खाक छानते नजर आते हैं। चुनावी मौसम में ऐसी तस्वीरें आम होती है। हांलाकि प्रचार के दौरान कुछ नेताओं को मतदाताओं के गुस्से का शिकार भी होना पड़ता है। बदहाली से बेहाल मतदाता जब अपना गुस्सा नेताओं पर उतारते हैं तो कई बार नेता जी को मैदान छोड़कर भागना भी पड़ता है।

-sponsored-

-sponsored-

जेडीयू उम्मीदवार के लिए गांव में वोट मांगना महंगा पड़ा विधायक को, भारी विरोध के बाद बैरंग लौटे

सिटी पोस्ट लाइवः चुनावी मौसम में नेता अक्सर गांव और कस्बो की खाक छानते नजर आते हैं। चुनावी मौसम में ऐसी तस्वीरें आम होती है। हांलाकि प्रचार के दौरान कुछ नेताओं को मतदाताओं के गुस्से का शिकार भी होना पड़ता है। बदहाली से बेहाल मतदाता जब अपना गुस्सा नेताओं पर उतारते हैं तो कई बार नेता जी को मैदान छोड़कर भागना भी पड़ता है। कुछ ऐसा हीं हुआ है जेडीयू के एक विधायक के साथ जेडीयू विधायक गांव में पार्टी प्रत्याशी के लिए वोट मांगने पहुंचे थे लेकिन लोगों के भारी विरोध के बाद उन्हें बैरंग लौटना पड़ा।

जानकारी के मुताबिक जेडीयू के विधायक अभय कुशवाहा जो पार्टी के युवा के प्रदेश के अध्यक्ष भी हैं वे इन दिनों काराकाट लोकसभा क्षेत्र में पार्टी प्रत्याशी महाबली सिंह के लिए वोट मांग रहे हैं ।वे कुशवाहा बहुल गांव में जाकर महाबली से को जिताने की अपील कर रहे हैं। बता दें काराकाट से आरएलएसपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा चुनाव लड़ रहे उनके खिलाफ जेडीयू महाबली सिंह को मैदान में उतारा है। जेडीयू पूरी कोशिश में है कि उपेंद्र कुशवाहा को मात दे दिया जाए। लिहाजा कुशवाहा वोट महाबली के खाते में आए, इसलिए जदयू ने कुशवाहा नेताओं की फौज को काराकाट लोकसभा क्षेत्र में लगाया है।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

पिछले दो-तीन दिनों से एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें जेडीयू विधायक अभय कुशवाहा काराकाट लोकसभा क्षेत्र के कुशवाहा बहुल एक गांव में नजर आ रहे है जहां लोगों ने उन्हें घेर रखा और नीतीश कुमार मुर्दाबाद, नरेंद्र मोदी मुर्दाबाद और नीतीश के दलाल वापस जाओ के नारे लगा रहे हैं। हालांकि विधायक अभय कुशवाहा और अन्य नेताओं द्वारा ग्रामीणों को भरसक समझाने की कोशिश करते नजर आ रहे हैं। लेकिन ग्रामीण ग्रामीणों द्वारा लगातार नारेबाजी की जा रही है। वहीं विधायक के सामने ही ग्रामीण उपेंद्र कुशवाहा जिंदाबाद के नारे भी लग रहे हैं। आखिरकार जदयू विधायक की कोशिश कामयाब नही दिख रही है और उल्टे पांव गांव से बाहर निकलते नजर आ रहे हैं।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.