By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

 गिरिराज सिंह को विवादित बयानों से बोनस और प्रीमियम मिलता है: मनोज झा

;

- sponsored -

सिटी पोस्ट लाइव- एनडीए के अन्दर मचा घमासान अब थमने का नाम नहीं नहीं ले रहा है. इस विवाद को हवा तब और मिल गई जब केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने ट्वीट के जरिये नीतीश कुमार के खिलाफ दावत -ए -इफ्तार को लेकर निशाना साधा. लेकिन इस राजनीतिक घमासान के बाद हर दल अपने-अपने हिसाब से इसे मोड़ देने में लगे हुए हैं.

-sponsored-

-sponsored-

 गिरिराज सिंह को विवादित बयानों से बोनस और प्रीमियम मिलता है: मनोज झा

सिटी पोस्ट लाइव- एनडीए के अन्दर मचा घमासान अब थमने का नाम नहीं नहीं ले रहा है. इस विवाद को हवा तब और मिल गई जब केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने ट्वीट के जरिये नीतीश कुमार के खिलाफ दावत -ए -इफ्तार को लेकर निशाना साधा. लेकिन इस राजनीतिक घमासान के बाद हर दल अपने-अपने हिसाब से इसे मोड़ देने में लगे हुए हैं. विशेषकर आरजेडी इसे गैर बीजेपी दलों के लिए एक गठजोड़ के तौर पर देख रही है और उसके नेताओं के बयान लगातार सामने आ रहे हैं. एक बार फिर आरजेडी सांसद मनोज झा ने सीएम नीतीश कुमार का समर्थन करते हुए गिरिराज सिंह पर हमला बोला है.

मनोज झा ने गिरिराज सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि बार-बार ऐसे बयान देने के बावजूद भी उनका प्रमोशन होता है. उन्हें नफरत की फसल बोने के लिए बोनस और प्रीमियम मिला है. उन्होंने जेडीयू-बीजेपी के रिश्तों पर कहा कि आगे-आगे देखिए क्या होता है.बता दें मंगलवार को गिरिराज सिंह ने ट्विटर और फेसबुक पर इफ्तार की तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा कि कितनी खूबसूरत तस्वीर होती जब इतनी ही चाहत से नवरात्रि पे फलाहार का आयोजन करते और सुंदर सुदंर फ़ोटो आते??…अपने कर्म धर्म मे हम पिछड़ क्यों जाते और दिखावा में आगे रहते हैं?

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

इस पर बुधवार को सीएम नीतीश ने ईद के अवसर पर गांधी मैदान में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि जो एक धर्म के बारे में ही सोचते हैं वो धार्मिक नही अधार्मिक व्यक्ति हैं वो धर्म को नुकसान पहुंचा रहे हैं. ऐसे लोग सिर्फ मीडिया में बने रहने के लिए ही बयान देते हैं और मैं ऐसे लोगों पर कोई टिप्पणी उचित नहीं समझता.

बता दें कि हाल के दिनों में बीजेपी और जेडयू के बीच काफी घमासान मचा है. पीएम नरेन्द्र मोदी ने जब अपने मंत्रीमंडल का विस्तार किया था तो नीतीश कुमार ने मंत्रीमंडल में शामिल होने से इनकार कर दिया था. वहीं जब बिहार में नीतीश कुमार ने मंत्रीमंडल का विस्तार किया तो बीजेपी भी उसमें शामिल नहीं हो सकी. इसके बाद से ही राजनीतिक कयासों और विवादों का दौर जारी है.                                                                                                                                                                                          जे.पी.चंद्रा की रिपोर्ट 

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.