By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

गिरिराज सिंह के जनसँख्या नियंत्रण के बयान को लेकर गरमाई बिहार की राजनीति

आरजेडी के विधायक भोला यादव ने संजय गांधी के नशबंदी अभियान को ठहराया जायज,

Above Post Content

- sponsored -

Below Featured Image

-sponsored-

गिरिराज सिंह के जनसँख्या नियंत्रण के बयान को लेकर गरमाई बिहार की राजनीति

सिटी पोस्ट लाइव : भारत सरकार के मंत्री बीजेपी के फायर-ब्रांड नेता गिरिराज सिंह अक्सर अपने विवादास्पद बयानों की वजह से सुर्खियों में बने रहते हैं.एकबार उन्होंने जनसंख्या नियंत्रण को लेकर बयां दिया है. उन्होंने कहा है कि बढती जनसँख्या एक गंभीर समस्या हैं.इसे नियंत्रित करने के लिए सरकार को कदा कानून बनाना चाहिए. उन्होंने कहा है कि देश में हिंदू-मुस्लिम दोनों के लिए दो बच्चों का नियम होना चाहिए. जो इस नियम को ना माने उसका वोटिंग का अधिकार ख़त्म कर देना चाहिए. उसे कोई सरकारी सुविधाएं नहीं मिलनी चाहिए.

विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि आज जनसंख्या भारत के लिए बड़ी चेतावनी है और इससे संसाधन और सामाजिक समरसता को ख़तरा है.गिरिराज ने कहा कि जनसंख्या पर नियंत्रण के लिए सख़्त क़ानून की ज़रूरत है. भारत में वोट के ठेकेदारों ने जनसंख्या को धर्म से जोड़ दिया है. इस नियम को इस्लामिक देश स्वीकार कर रहे हैं लेकिन भारत में लोग इसे सरियत और धर्म से जोड़ देते हैं इसी कारण वोट के सौदागर खड़े हो जाते हैं. यहाँ तक तो ठीक है कि धर्म-मजहब से ऊपर उठकर जनसँख्या नियंत्रण के लिए कानून बनाना चाहिए लेकिन गिरिराज ने इसके साथ ही एक विवादित बयां भी जोड़ दिया है. उन्होंने कहा है कि जहां-जहां हिंदू की संख्या गिरती है वहां-वहां सामाजिक समरसता टूट जाटी है. आज ओवैसी जैसे लोग सामाजिक समरस्ता के लिए सबसे बड़े बाधक हैं. भारत में लोग अपने फ़ायदे के लिए समाज को जोड़ने की बजाय विषमता फैलाने का काम करते हैं.

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

इससे पहले भी गिरिराज सिंह ने ट्वीट कर लिखा था कि धार्मिक व्यवधान के कारण जनसंख्या नियंत्रण में अड़चन आ रही है और देश 1947 की तरह ही सांस्कृतिक विभाजन की ओर बढ़ रहा है. गिरिराज सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा, हिंदुस्तान में जनसंख्या विस्फोट अर्थव्यवस्था, सामाजिक समरसता और संसाधन का संतुलन बिगाड़ रहा है. जनसंख्या नियंत्रण पर धार्मिक व्यवधान भी एक कारण है, हिंदुस्तान 47की तर्ज़ पर सांस्कृतिक विभाजन की ओर बढ़ रहा है. सभी राजनीतिक दलों को साथ हो जनसंख्या नियंत्रण क़ानून के लिए आगे आना होगा.

गिरिराज सिंह के इस बयान को लेकर आज बिहार विधान सभा गरमाया रहा. जनसँख्या नियंत्रण के विरोध में तो कोई नहीं बोल पाया लेकिन गिरिराज सिंह पर जरुर निशाना साधा. आरजेडी नेता भोला यादव ने तो यहाँ तक कह दिया कि संजय गांधी का नशबंदी अभियान सही था और आज भी उसी तरह के अभियान की दरकार है. गौरतलब है कि संजय गांधी के इसी अभियान की वजह से इंदिरा गांधी सत्ता से बेदखल हो गई थीं.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.