By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

चमकी बुखार से पीड़ितों से मिलने पहुंचे कन्हैया कुमार को SKMCH गेट पर रोका

- sponsored -

बिहार में चमकी बुखार का कहर लगातार मासूमों पर जारी है. अब तक इससे तक़रीबन 156 लोगों की मौत हो गई है. लेकिन इसी बीच जनप्रतिनिधियों से लेकर सामाजिक कार्यकर्ताओं का दौरा पीड़ितों से मिलने के लिए जारी है.

Below Featured Image

-sponsored-

चमकी बुखार से पीड़ितों से मिलने पहुंचे कन्हैया कुमार को SKMCH गेट पर रोका

सिटी पोस्ट लाइव- बिहार में चमकी बुखार का कहर लगातार मासूमों पर जारी है. अब तक इससे तक़रीबन 156 लोगों की मौत हो गई है. लेकिन इसी बीच जनप्रतिनिधियों से लेकर सामाजिक कार्यकर्ताओं का दौरा पीड़ितों से मिलने के लिए जारी है. इसी क्रम में छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और सीपीआई के नेता कन्हैया कुमार भी मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच पहुंचे. बड़ी संख्या में समर्थकों के साथ पहुंचे कन्हैया को सुरक्षाकर्मियों ने अस्पताल के अंदर जाने की अनुमति नहीं दी. हालांकि, काफी जद्दोजहद के बाद कन्हैया कुमार को दो-तीन समर्थकों के साथ अस्पताल के भीतर जाने दिया गया और मरीजों और उनके परिजनों से मिलने दिया गया.

इस दौरान कन्हैया कुमार ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अभी प्रार्थना का वक्त है और इस मसले पर वह कोई राजनीति नहीं करना चाहते हैं. बता दें कि शुक्रवार को केंद्र सरकार के अपर सचिव मनोज झलानी, एडीशनल हेल्थ सेक्रेटरी, बिहार कौशल किशोर, दिल्ली के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. अरुण कुमार सिंह, दिल्ली से संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ. सत्यम, बिहार के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार व जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष एसकेएमसीएच पहुंचे. उन्होंने पीआइसीयू का निरीक्षण कर पीड़ित बच्चों का हाल जाना और चिकित्सकों के साथ बैठक की.

Also Read

-sponsored-

गौरतलब है कि मासूमों के मौत के 14 दिन बाद बिहार के स्वास्थ्य मंत्री गये थें जबकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 17 दिन बाद बच्चों को देखने अस्पताल गये थें जिसका काफी विरोध वहाँ की जनता ने किया था.लोगों ने नीतीश कुमार वापस जाओ के नारे भी लगाएं थें.                                                                                                              जे.पी.चंद्रा की रिपोर्ट     

                                                                                                                                                                                                  

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.