By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पिछले पांच साल का हिसाब देने आया हूं : रघुवर दास

;

- sponsored -

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने रविवार को झुमरीतिलैया में जन आशीर्वाद यात्रा के तहत सभा को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले पांच साल में झारखंड में विकास के जो काम हुए हैं, मैं आपको उसका हिसाब देने आया हूं।

-sponsored-

-sponsored-

पिछले पांच साल का हिसाब देने आया हूं : रघुवर दास

सिटी पोस्ट लाइव, रांची/कोडरमा: मुख्यमंत्री रघुवर दास ने रविवार को झुमरीतिलैया में जन आशीर्वाद यात्रा के तहत सभा को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले पांच साल में झारखंड में विकास के जो काम हुए हैं, मैं आपको उसका हिसाब देने आया हूं। उन्होंने कहा कि पिछले पांच साल में हमारी सरकार ने हर झारखंडवासी का मान सम्मान बढ़ाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच साल में झारखंड में बेहतरीन सड़कें बनीं, हर घर में बिजली पहुंची और घर-घर पानी पहुंच रहा है, लेकिन झामुमो और कांग्रेस ने झारखंड की अस्मिता को बेचने का काम किया। लूट और भ्रष्टाचार किया, उनका एक ही मकसद था खुद का विकास। 2014 से पहले देश में अनगिनत घोटाले हुए लेकिन मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से ही घोटालेबाजों की शामत आ गई है। आज भ्रष्टाचार और घोटाले का नामोनिशान नहीं, आज बात होती है ईमानदारी की और विकास की। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में डबल इंजन की सरकार झारखंडवासियों के विकास के लिए काम कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा सौभाग्य है कि आयुष्मान भारत की शुरुआत झारखंड से हुई थी। झारखंड देश का पहला राज्य है, जहां महिलाओं के नाम पर निबंधन एक रुपए में होता है। मुख्यमंत्री सुकन्या योजना के तहत बेटियों को नियमित अंतराल पर 40 हजार रुपये दे रही है। उन्होंने कहा कि एक बेटी पढ़ती है तो दो परिवारों को अच्छे संस्कार देती है। इसलिए बेटा-बेटी में फर्क न करें, बेटियों को खूब पढ़ायें और उन्हें आगे बढ़ने के अवसर दें।इस दौरान मुख्यमंत्री ने विरोधी दलों पर हमला बोलते हुए कहा कि वे वोट मांगने आए तो जरूर पूछियेगा कि उनके राज में गरीब और गरीब क्यों होते चले गए। आखिर झारखंडवासियों को बिजली, पानी, स्वास्थ्य, शिक्षा और दूसरी मूलभूत सुविधाएं क्यों नहीं मिली? मौके पर स्थानीय सांसद अन्नपूर्णा देवी, मंत्री डा नीरा यादव, विधायक जानकी यादव, विधायक केदार हाजरा और जिप अध्यक्ष शालिनी गुप्ता भी थीं।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.