By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

तेजप्रताप ने अपने अर्जुन को लिखी चिट्ठी, कहा-मैंने कई बार आगाह किया, लेकिन एक नहीं सुनी गई

Above Post Content

- sponsored -

उन्होंने अपने अर्जुन को एक चिठ्ठी लिखी है. जिसमें तेजस्वी को कई सलाह के साथ साथ अपना दुःख भी व्यक्त किया है. तेजस्वी को लिखे पत्र में तेजप्रताप ने लोकसभा चुनाव हार पर बड़ी बात कही है.

Below Featured Image

-sponsored-

तेजप्रताप ने अपने अर्जुन को लिखी चिट्ठी, कहा-मैंने कई बार आगाह किया, लेकिन एक नहीं सुनी गई

सिटी पोस्ट लाइव : पूर्व सीएम राबड़ी देवी के आवास पर राष्ट्रीय जनता दल समीक्षा बैठक में पार्टी के राजद सुप्रीमो लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव खुद तो मौजूद नहीं रहे, लेकिन उन्होंने अपनी उपस्थिति जरूर दर्ज करवा दी. उन्होंने अपने अर्जुन को एक चिठ्ठी लिखी है. जिसमें तेजस्वी को कई सलाह के साथ साथ अपना दुःख भी व्यक्त किया है. उन्होंने तेजस्वी को लिखे पत्र में तेजप्रताप ने लोकसभा चुनाव हार पर बड़ी बात कही. उन्होंने कहा कि मैंने कई बार आपको अपने इर्द-गिर्द लोगों से सावधान रहने की सलाह दी. मैंने हमेशा पार्टी को तोड़ने और अपराधिक प्रवृति के लोगों के खिलाफ आवाज उठाई. समर्पित लोगों को टिकट देने की मांग की. लेकिन मेरी एक न सुनी गई. मैंने जहानाबाद और शिवहर की सीट इसलिए मांगी थी कि वहां की जनता स्थानीय सांसद मांग कर रहे थे. इस हार की जिम्मेवारी लेनी चाहिए जिन्होंने टिकट बांटी और जो उम्मीदवार लाडे.

हालांकि उन्होंने  2020 में साथ मिलकर काम करने की इच्छा जताई है. उन्होंने लिखा कि 2020 में साफ छवि के लोगों को टिकट दिया जाए. तेजप्रताप ने EVM भगाओ देश बचाओ आंदोलन करने की बात भी कही. उन्होंने लालू यादव को अपना राजनीतिक गुरु बताते हुए कहा कि बड़े भाई होने के नाते मेरी बात सुनी जाए. इतना ही नहीं तेजप्रताप में ट्वीट कर लिखा है कि जिसको तेजस्वी के नेतृत्व पे कोई शक है वो राजद पार्टी छोर दे।

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.