City Post Live
NEWS 24x7

बेगूसराय में बहुजन समाज पार्टी के बैनर तले बढ़ते अपराध के खिलाफ को आक्रोश प्रदर्शन की गई।

In Begusarai, there was an outrage against the rising crime under the banner of Bahujan Samaj Party.

- Sponsored -

- Sponsored -

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव –    बेगूसराय में बहुजन समाज पार्टी के बैनर तले बढ़ते अपराध के खिलाफ वुधवार को आक्रोश पूर्व प्रदर्शन की गई। यह प्रदर्शन मुख्यालय अंतर्गत समाहरणालय के दक्षिणी द्वार स्थित हड़ताली चौक पर आयोजित की गई।इस प्रदर्शन में सैकड़ों महिलाएं एवं ग्रामीण शामिल थे।प्रदर्शन में लोगों द्वारा पुलिस के खिलाफ आग उबल रही थी और लोग जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते नजर आ रहे थे। इस कार्यक्रम में तमाम विपक्षी दल के नेता शामिल थे।इस दौरान सीटू नेता अंजनी कुमार सिंह ने सफापुर पंचायत के मुखिया पर जानलेवा हमले को निंदनीय घटना बताया ।

 

चेतावनी भरे लहजे

सीटू नेता ने कहा कि मुखिया पर हमला न केवल प्रशासन को खुली चुनौती है बल्कि सामाजिक जीवन, राजनैतिक जीवन व्यतीत करने वाले लोगों के लिए भी खुली चुनौती बन गई है  वहीं बहुजन समाज पार्टी के नेता राजकुमार ने घटना को आम करार देते हुए बताया कि राज्य के मुख्यमंत्री भी अब सुरक्षित नहीं रह गए है। बसपा नेता ने चेतावनी भरे लहजे में बताया कि जिले में बढ़ रहे अपराध की घटनाओं पर पुलिस प्रशासन रोक लगाने में कामयाब नहीं होती है तो हम लोग सड़कों पर उतरेंगे वहीं राष्ट्रीय जनता दल के नेता ने भी अपनी कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है

 

मुखिया को गोली मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया

आपको बता दें कि बीते 27 अप्रैल की शाम जिले के नयागांव थाना क्षेत्र अंतर्गत सफापुर निवासी हरिराम पासवान का पुत्र मुखिया अमित कुमार पासवान को बाइक पर सवार तीन हथियार लैस बदमाशों ने मुखिया को गोली मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया था जिसे चिंताजनक स्थिति में परिजनों ने उसे इलाज के लिए शहर कल्पना नर्सिंग होम में भर्ती कराया जहां उसकी स्थिति काफी चिंताजनक बनी रही और कई दिनों तक चले इलाज के बाद बेहतर इलाज के लिए डॉक्टर ने उसे पटना रेफर कर दिया। गौरतलब  है कि अपराधियों ने लगभग 10 राउंड मुखिया पर ताबड़तोड़ फायरिंग की थी जिससे  तीन गोलियां शरीर में लगने से उसकी स्थिति काफी चिंताजनक बन गई थी। मुखिया की ईमानदारी एवं स्वच्छ छवि के कारण जिले के तमाम राजनीतिक दल सहित ग्रामीणों में आक्रोश को बढ़ गया और आरोपियों के गिरफ्तारी की मांग को लेकर पुलिस के प्रति जगे विश्वास की बांध टूट पड़ा और आक्रोशित लोग प्रदर्शन पर उतारू हो गए।

- Sponsored -

-sponsored-

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

- Sponsored -

Comments are closed.