By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

SSP हरप्रीत कौर पर भड़के पप्पू, कहा- सुरक्षा देने के बजाय पत्रकारों को भेजती हैं ‘लव लेटर’

;

- sponsored -

पप्पू यादव ने मुजफ्फरपुर SSP हरप्रीत कौर पर भी जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि जब मुझे बंद समर्थकों ने रोका तो मैंने उन्हें 3 मैसेज भेजा लेकिन उनका मुझे कोई जबाव नहीं आया. उन्होंने कहा कि मझे रोकने की साजिश की गई ताकि मैं नारी बचाओ पद यात्रा में शामिल न हो सकूं. उन्हें मुझे सुरक्षा मुहैया कराना चाहिए था लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया.

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

 

सिटी पोस्ट लाइव : जन अधिकार पार्टी (जाप) की ‘नारी बचाओ पद यात्रा’ के सिलसिले में मधुबनी के बासोपट्टी पहुंचे पार्टी सुप्रीमो पप्पू यादव का पार्टी कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया. हालांकि पटना से मधुबनी आने के दौरान मुजफ्फरपुर में पप्पू यादव के काफिले पर कथित बंद समर्थकों के हमले के चलते निर्धारित समय के घंटों बाद पप्पू यादव बासोपट्टी पहुंचे थे. बासोपट्टी में सभा को संबोधित करते हुए जाप सुप्रीमो ने कहा कि मुजफ्फरपुर में उनकी हत्या की साजिश रची गई थी और इस साजिश के पीछे नारी की अस्मत से खिलवाड़ करने वालों का हाथ है. उन पर हमले के सवाल पर पप्पू यादव ने कहा कि इस तरह की हरकत से वे डरने वाले नहीं हैं. उन्होंने कहा कि ‘मुजफ्फरपुर में शुरू हुई लड़ाई, मुजफ्फरपुर में ही खत्म करेंगे.

इस दौरान पप्पू यादव ने मुजफ्फरपुर SSP हरप्रीत कौर पर भी जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि जब मुझे बंद समर्थकों ने रोका तो मैंने उन्हें 3 मैसेज भेजा लेकिन उनका मुझे कोई जबाव नहीं आया. उन्होंने कहा कि मझे रोकने की साजिश की गई ताकि मैं नारी बचाओ पद यात्रा में शामिल न हो सकूं. उन्हें मुझे सुरक्षा मुहैया कराना चाहिए था लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया. पप्पू यादव ने कहा कि मेरे मैसेज भेजने का बाद भी उनका जबाव नहीं आया और शाम को पत्रकारों को लव लेटर भेजती हैं.

[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

बता दें जन अधिकार पार्टी के नेता और मधेपुरा से सांसद पप्पू यादव ने आऱोप लगाया था कि गुरुवार को एसएसी-एसटी एक्ट के विरोध में भारत बंद के दौरान मुजफ्फरपुर में उन पर जानलेवा हमला किया गया. वो मीडिया के सामने आए तो रूंधे गले से रोते हुए पीड़ा बयान कर रहे थे, जबकि गुरूवार शाम को एसएसपी हरप्रीत कौर ने पप्पू यादव के ऊपर हुए कथित हमले को नकारते हुए पत्र जारी कर कहा था कि पप्पू यादव पर किसी भी प्रकार से उनपर हमला नहीं हुआ था. बल्कि वे खुद बंद समर्थकों से हंसते हुए गाड़ी से उतरकर मिलने गए थे.

Also Read

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.