By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

अपने नेता अजय आलोक के खिलाफ JDU का बड़ा स्टैंड

;

- sponsored -

-sponsored-

-sponsored-

अपने नेता अजय आलोक के खिलाफ JDU का बड़ा स्टैंड

सिटी पोस्ट लाइव : हमेशा पार्टी लाइन से हटकर  विवादाष्पद ट्विट करनेवाले अपने नेता डॉक्टर अजय आलोक से जेडीयू ने अब किनारा कर लिया है. जेडीयू ने अपने पूर्व प्रदेश प्रवक्ता डॉ. अजय आलोक के ट्विट और बयानों पर ध्यान नहीं देने की बात कही है.पार्टी के प्रवक्ता राजीव रंजन ने सिटी पोस्ट लाइव से कहा कि वो अब पार्टी प्रवक्ता पद पर नहीं हैं इसलिए उनके बयान का कोई मतलब नहीं है. राजीव रंजन ने कहा कि अजय आलोक को पार्टी के प्रवक्ता पद से काफी पहले पदमुक्त किया जा चुका है.

गौरतलब है कि जदयू के पूर्व प्रवक्‍ता डॉ अजय आलोक कुछ दिनों से लगातार ट्वीट कर रहे हैं.उनका हर ट्विट पार्टी लाइन से अलग रहा है.वो लगातार अपनी ही पार्टी और नेता पर सवाल खड़े करते रहे हैं. उऩके ट्वीट से पार्टी के बड़े नेता खासतौर पर नीतीश कुमार असहज मह्सुश कर रहे हैं. पार्टी लाईन से इतर जाकर उनके द्वारा किये जा रहे धडाधड ट्विट से पार्टी परेशान है. बुधवार को भी अजय आलोक ने ट्वीट कर जदयू के बड़े भाई की तरह व्‍यवहार करने की नसीहत दे दी थी.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

जेडीयू  प्रवक्ता राजीव रंजन ने बुधवार कहा कि अजय आलोक द्वारा जदयू नेता के रूप में अनधिकृत रूप से बयान दिया जा रहा है.उन्होंने कहा कि वे पार्टी के किसी पद पर नहीं है.पार्टी प्रवक्ता के पद से दिए गए उनके इस्तीफे को बहुत पहले स्वीकार कर लिया गया है. ऐसी स्थिति में उनके किसी भी बयान का संज्ञान जदयू के आधिकारिक बयान नहीं है.साथ हीं उन्होंने यह भी कहा कि अजय आलोक के बयानों को जदयू खारिज करता है.

गौरतलब है कि बुधवार को भी अजय आलोक ने बुधवार को भी ट्वीट किया कर कहा था कि – ‘सारे संबंधों में कभी कटुता आती है, लेकिन जिम्मेदार लोग उसमें मिठास डालते हैं. भाजपा बिहार में सत्ता में ना रहे, उसको कोई फर्क नहीं पड़ता. लेकिन, बिहार हित में ये संबंध मजबूत रहना चाहिए.खास तब जब JDU अपने को Big Brother की भूमिका में रखती है, तो ज़िम्मेदारी हमारी है.इस ट्विट के बाद नीतीश कुमार विपक्ष के निशाने पर आ गए थे. फिर क्या था पार्टी ने अजय आलोक से पूरी तरह किनारा कर लिया है.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.