By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

कुशवाहा ने मायावती की बसपा के साथ किया गठबंधन, कहा- नीतीश कुमार मुक्त करना जरूरी

;

- sponsored -

महागठबंधन में अलग-थलग पड़ गये और एनडीए में कोई भाव नहीं मिलने के बाद अब कुशवाहा को बड़ा सहारा मिल गया है। बीएसपी सुप्रीमो मायावती से उनकी डील फाइनल हो गयी है. उन्होंने बसपा के साथ गठबंधन का किया एलान किया है.

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : महागठबंधन में अलग-थलग पड़ गये और एनडीए में कोई भाव नहीं मिलने के बाद अब कुशवाहा को बड़ा सहारा मिल गया है। बीएसपी सुप्रीमो मायावती से उनकी डील फाइनल हो गयी है. उन्होंने बसपा के साथ गठबंधन का किया एलान किया है इसमें जनवादी पार्टी सोशलिस्ट पार्टी भी शामिल हुआ है. इस मौके पर कुशवाहा ने सीएम नीतीश को अपने निशाने पर लेते हुए कहा कि नीतीश कुमार ने 15 साल में बिहार को रसातल में पहुंचा दिया है इस लिए बिहार को नीतीश कुमार मुक्त करना जरूरी है. कुशवाहा ने कहा कि नीतीश कुमार 15 साल सिर्फ कुर्सी बचाने में लगे रहे. कुशवाहा ने यह भी कहा कि आज के विपक्ष से नीतीश को हटाना संभव नहीं ऐसे में नया गठबंधन जरूरी था.

उपेन्द्र कुशवाहा ने बसपा के साथ सभी 243 सीटों पर चुनाव लड़ने का भी ऐलान किया. उन्होंने चिराग को भी न्योता दिया और कहा कि इस गठबंधन में जो आना चाहें सबका स्वागत है. रालोसपा में मची भगदड़ पर उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि हमने अपनी नाव मंझधार से निकाल ली है, लेकिन जो कमजोर दिल वाले हैं वो उतरकर भाग रहे हैं. गौरतलब है कि आरजेडी के रवैये से नाराज होने के बाद उपेंद्र कुशवाहा ने महागठबंधन से निकलने का मन बना लिया था और इसको लेकर उन्होंने बैठक भी की थी। बता दें कि इससे पहले सोमवार को तेजस्वी यादव ने उनको बड़ा झटका देते हुए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भूदेव चौधरी को अपने साथ ले लिया, ऐसे में उपेंद्र कुशवाहा के समक्ष अब सबसे बड़ी समस्या बिहार में पार्टी के राजनीतिक वजूद बचाने को लेकर है।

;

-sponsored-

Comments are closed.