By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

CM नीतीश के करीबी नेता बिहार में करवाएंगे ‘पियक्कड़ सम्मेलन’, जानिए क्या है प्लान?

HTML Code here
;

- sponsored -

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव :पूर्ण शराबबंदी के वावजूद जहरीली शराब से लगातार हो रही मौतों की वजह से नीतीश सरकार विपक्ष के साथ साथ सहयोगी दलों के निशाने पर भी आ गई है.इतना ही नहीं अब तो उनके करीबी लोगों ने भी उनकी परेशानी बढ़ानी शुरू कर दी है.मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जेडीयू के पूर्व विधायक श्याम बहादुर सिंह ने सीवान के गांधी मैदान में पियक्कड़ सम्मेलन का आयोजन करने का ऐलान कर दिया है. उन्होंने कहा कि इस सम्मेलन में देखा जाएगा कि शराब पीने वाले कितने लोग हैं, और शराब नहीं पीने वाले कितने. यही नहीं, उन्होंने कहा कि जो भी पियक्कड़ सम्मेलन में आएगा, और जो लोग शराब की डिमांड करेंगे उन्हें वो पिलायी जाएगी,

गौरतलब है कि नीतीश कुमार शराबबंदी कानून (Liquor Ban) को सफल बनाने के लिए ऐड़ी चोटी का जोर लगाए हुए हैं.ऐसे में उनके बेहद करीबी माने जाने वाले जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) के पूर्व विधायक ने पियक्कड़ सम्मेलन कराने का ऐलान कर चिंता बढ़ा दी है. जेडीयू के पूर्व विधायक श्याम बहादुर सिंह (Former MLA Shyam Bahadur Singh), जो अपने बयानों के साथ-साथ अपनी हरकतों को लेकर चर्चा में रहते आए हैं, पत्रकारों ने उनसे जब इस आयोजन का मकसद पूछा तो उन्होंने कहा कि इस सम्मेलन में यह देखा जाएगा कि शराब पीने वाले कितने लोग हैं, और शराब नहीं पीने वाले कितने. यही नहीं, श्याम बहादुर सिंह ने कहा कि जो भी पियक्कड़ सम्मेलन में आएगा, और जो लोग शराब की डिमांड करेंगे उन्हें वो पिलायी जाएगी.

मंगलवार को सीवान जिला परिषद कार्यालय के उद्घाटन के मौके पर पहुंचे श्याम बहादुर सिंह ने पत्रकारों के सामने शराबबंदी को लेकर अपनी राय जाहिर कर दी.उन्होंने कहा कि शराबबंदी में थोड़ी रियायत के लिए वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी आग्रह करेंगे. तब पत्रकारों ने उन्हें कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हैं, तब उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार शराबबंदी में संशोधन करेंगे तो ठीक रहेगा. थोड़ी सी ढील देनी चाहिए. इतना कहने के बाद जेडीयू के पूर्व विधायक वहां बज रहे भोजपुरी गाने पर डांस करना शुरू कर देते हैं.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

श्याम बहादुर सिंह ने इस दौरान मजाकिया लहजे में पूछा कि ‘मुख्यमंत्री कोर्ट से ऊपर हैं क्या? जब सब लोग भी कह रहा हैं, सुप्रीम कोर्ट भी कह रहा है कि ढीला करो. फिर भी अगर बिहार सरकार नहीं मानी तो इसके बाद उनको बुझा (समझ) जाएगा. यह कहने के बाद पत्रकारों के कहने पर फिर वो डांस करने लगे.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.