By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

LJP की एकलौती एमएलसी नूतन पासवान ने थामा BJP का दामन.

;

- sponsored -

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव :एलजेपी को एक के बाद एक झटका लग रहा है.विधान सभा चुनाव में मात खाए जेडीयू ने तो एलजेपी को बर्बाद कर देने का कसम खा ही लिया है.लगातार जेडीयू की तरफ से एलजेपी में सेंधमारी की जा रही है.एलजेपी में बचे नेता अब बीजेपी में भी जाने लगे हैं. पिछले दिनों लोक जनशक्ति पार्टी के कई दिग्‍गज नेताओं ने नीतीश कुमार की पार्टी का दामन थामा था.आज  सोमवार को एलजेपी की इकलौती एमएलसी नूतन सिंह (MLC Nutan Singh) ने बिहार भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली है.

एमएलसी नूतन सिंह ने कहा कि मेरे पति भाजपा में इस कारण मैंने एलजेपी छोड़कर भाजपा की सदस्यता ग्रहण की है, ताकि हम दोनों मिलकर साथ काम कर सकें.गौरतलब है कि नूतन सिंह के पति नीरज कुमार सिंह बबलू इस समय नीतीश सरकार में भाजपा के कोटे से  वन पर्यावरण मंत्री हैं. बहरहाल, इकलौती एमएलसी के साथ छोड़ने के बाद विधान परिषद में एलजेपी जीरो हो गई है.

बहरहाल, बिहार में एनडीए से अलग होकर विधानसभा चुनाव लड़ने वाली एलजेपी ने जेडीयू और भाजपा को काफी नुकसान पहुंचाया था, लेकिन उसे कोई फायदा नहीं हुआ था. इसके बाद जेडीयू और चिराग पासवान की पार्टी के बीच जंग ने जोर पकड़ लिया. जबकि पिछले दिनों लोक जनशक्ति पार्टी के कई नेताओं ने जेडीयू का दामन थाम लिया, जिनमें केशव सिंह (पूर्व प्रदेश महासचिव), पारस नाथ गुप्ता (पूर्व प्रदेश अध्यक्ष-अति पिछड़ा प्रकोष्ठ), दीनानाथ कांति (पूर्व महासचिव), रामनाथ रमण (पूर्व महासचिव), कौशल सिंह कुशवाहा (पूर्व प्रदेश अध्यक्ष-मजदूर प्रकोष्ठ), रामनाथ रमण (प्रदेश महासचिव), आशीष कुशवाहा (उपाध्यक्ष युवा एलजेपी), अजय सिंह (जिला अध्यक्ष मुजफ्फरपुर), मंजीत वर्मा (बेतिया जिलाध्यक्ष), अशोक पासवान (प्रदेश महासचिव) आदि बड़े नाम शामिल हैं.

जेडीयू प्रवक्ता निखिल मंडल ने कहा कि आज पूरा बिहार नीतीश कुमार के साथ खड़ा है इसलिए जिनकी विचारधारा उनसे मिल रही है, वो उनके साथ चलना पसंद कर रहे हैं.

;

-sponsored-

Comments are closed.