By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

लालू यादव से मुलाकात की खबरों को मदन सहनी ने किया खारिज, बोले- नीतीश ही मेरे नेता

HTML Code here
;

- sponsored -

बिहार सरकार के मंत्री और जेडीयू नेता मदन सहनी के इस्तीफे की पेशकश के बाद अचानक से दिल्ली जाने के बाद अटकलों का बाजार पूरी तरफ गरम है। संभावना जतायी जा रही थी कि मंत्री दिल्ली में आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से मुलाकात करने गये हैं। अटकलें ये भी लग रही है कि वे आरजेडी में शामिल हो सकते हैं। लेकिन इस बीच मंत्री मदन सहनी का बड़ा बयान सामने आया है।

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार सरकार के मंत्री और जेडीयू नेता मदन सहनी के इस्तीफे की पेशकश के बाद अचानक से दिल्ली जाने के बाद अटकलों का बाजार पूरी तरफ गरम है। संभावना जतायी जा रही थी कि मंत्री दिल्ली में आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से मुलाकात करने गये हैं। अटकलें ये भी लग रही है कि वे आरजेडी में शामिल हो सकते हैं। लेकिन इस बीच मंत्री मदन सहनी का बड़ा बयान सामने आया है।

मंत्री मदन सहनी ने साफ-साफ कहा कि लालू यादव से मिलने का न तो कार्यक्रम है और न ही इसकी जरूरत है। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से नाराजगी की खबरों को भी आधारहीन बताया है। सहनी ने कहा कि वे आज भी जेडीयू में हैं और आगे भी रहेंगे। जहां तक नेता की बात है तो उन्होंने स्पष्ट किया कि नीतीश कुमार ही उनके नेता है।

मंत्री मदन सहनी ने कहा कि वो निजी काम से दिल्ली आए हैं। उन्होंने कहा कि दरअसल उनका एक रिश्तेदार बीमार है, जो यहां अस्पताल में भर्ती है। उन्हीं को देखने के लिए मुझे अचानक दिल्ली आना पड़ा है। दिल्ली दौरे का सियासी मकसद तलाशना या लालू यादव से मुलाकात की बात करना महज अटकलें हैं, इसका सच्चाई से कोई वास्ता नहीं है।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

गौरतलब है कि अधिकारियों पर मनमानी करने और उनकी बात नहीं सुनने का आरोप लगाकर मदन सहनी ने समाज कल्याण मंत्री के पद से इस्तीफे का ऐलान कर बिहार की सियासत में भूचाल ला दिया था। उन्होंने कहा था, ‘यहां अधिकारियों की कौन कहे, चपरासी तक मंत्री की बात नहीं सुनते। अगर मंत्री की भी बात सरकार में नहीं सुनी जाएगी, तो ऐसी हालत में मंत्री पद पर रहकर क्या फायदा?’ बता दें कि इस मसले पर बिना सीएम नीतीश कुमार से मुलाकात किए वे दिल्ली चले गये थे।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.