By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पेगासस जासूसी कांड को लेकर अब मांझी ने की जांच की मांग, मामले को बताया गंभीर

HTML Code here
;

- sponsored -

बिहार की सियासत में पेगासस जासूसी कांड का मामला एक बार फिर से गहराने लगा है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कल ही इस मामले की जांच की मांग की थी. वहीं, अब इस मामले को लेकर पूर्व सीएम व हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी जिन्होंने ने अब तक इस मामले में चुप्पी साथ रखी थी, अब उन्होंने ने भी जांच की मांग कर दी है.

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव: बिहार की सियासत में पेगासस जासूसी कांड का मामला एक बार फिर से गहराने लगा है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कल ही इस मामले की जांच की मांग की थी. वहीं, अब इस मामले को लेकर पूर्व सीएम व हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी जिन्होंने ने अब तक इस मामले में चुप्पी साथ रखी थी, अब उन्होंने ने भी जांच की मांग कर दी है. जीतन राम मांझी का कहां है कि, अगर विपक्ष इसकी जांच की मांग कर रहा है और इससे सदन का काम प्रभावित हो रहा है तो, इस मामले में जांच होनी ही चाहिए.

दरअसल, उन्होंने एक ट्वीट किया जिसके जरिये उन्होंने लिखा कि, “अगर विपक्ष किसी मामले की जांच की मांग कर लगातार संसद का काम प्रभावित कर रहा है तो यह गंभीर मामला है। मुझे लगता है वर्तमान परिस्थितियों को ध्यान में रखकर पेगासस जासूसी मामले की जांच करा लेनी चाहिए,जिससे देश को पता चल पाए कि कौन किन लोगों की जासूसी करवा रहा है।” बता दें कि, जीतन राम मांझी ने बिहार से जुड़े कई मुद्दों को लेकर सीएम नीतीश कुमार का साथ दिया है. वहीं, एक बार फिर से उन्होंने नीतीश कुमार का साथ दिया है.

[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

Also Read

बता दें कि, इस मामले में सीएम नीतीश कुमार ने कहा था कि टेलिफोन टैपिंग की बात इतने दिनों से सामने आ रही है. लिहाजा इस पर बात जरूर होनी चाहिए और गंभीर चर्चा की जानी चाहिए. आजकल तो फोन टैपिंग कई तरह से कोई भी कर लेता है. ऐसे में इन चीजों पर एक-एक बात को देखकर सरकार को उचित कदम उठाना चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि, संसद में इस पर क्या हुआ और क्या नहीं हुआ है, ये सब मैं समाचार पत्रों में पढ़कर ही जानता हूं. जो कुछ भी है, उसकी जांच होनी चाहिए. आखिर कैसे किस तरह से फोन की टैपिंग हो रही है तो सच्चाई सामने आनी चाहिए.

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.