By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बीजेपी को हराने के लिए गोड्डा, कोडरमा और चतरा सीट चाहते हैं मरांडी, बोले-कांग्रेस गंभीर नहीं

- sponsored -

सीट शेयरिंग को लेकर महागठबंधन के अंदर पेंच न सिर्फ बिहार में फंसा है बल्कि झारखंड में भी उलझने नहीं सुलझी है। झारखंड में महागठबंधन की कांग्रेस प्रमुख दल है, यहां महागठबंधन में पूर्व सीएम बाबू लाल मरांडी की पार्टी झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) भी शामिल है।

-sponsored-

बीजेपी को हराने के लिए गोड्डा, कोडरमा और चतरा सीट चाहते हैं मरांडी, बोले-कांग्रेस गंभीर नहीं

सिटी पोस्ट लाइवः सीट शेयरिंग को लेकर महागठबंधन के अंदर पेंच न सिर्फ बिहार में फंसा है बल्कि झारखंड में भी उलझने नहीं सुलझी है। झारखंड में महागठबंधन की कांग्रेस प्रमुख दल है, यहां महागठबंधन में पूर्व सीएम बाबू लाल मरांडी की पार्टी झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) भी शामिल है। बाबू लाल मरांडी ने झारखंड की गोड्डा, कोडरमा और चतरा सीट डिमांड कर दी है। बाबू लाल मरांडी ने कहा कि इन तीन सीटों पर हमारी पूरी तैयारी है पार्टी ने खूब मेहनत की है इन सीटों पर इसलिए हमने पहले हीं कांग्रेस के सामने यह स्पष्ट कर दिया है कि हमें झारखंड की गोड्डा, कोडरमा और चतरा सीट चाहिए लेकिन लगता है कांग्रेस गंभीर नहीं है, लगता नहीं है कि वो जीतने के लिए चुनाव जीतने के लिए चुनाव लड़ना चाहती है।

बाबूलाल मरांडी ने बताया कि कांग्रेस ने पलामू सीट का आॅफर दिया था लेकिन हमने कभी पलामू सीट मांगा हीं नहीं हमें तो बीजेपी को हराने के लिए झारखंड की चतरा, गोड्डा और कोडरमा सीट चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारे पास जितनी ताकत और क्षमता है हम बीजेपी को हराने के लिए वो सारी ताकत और क्षमता लगा देंगे। जाहिर सीटों को लेकर पेंच झारखंड में भी फंसा हुआ है और महागठबंधन के अंदर झारखंड की सीटों को लेकर भी सहयोगियों का दबाव है, उनकी अपनी डिमांड हैं जिसे पूरा कर पाना कांग्रेस के लिए आसान नही हो पा रहा। कुल मिलाकर पेचं आसानी से सुलझता नजर नहीं आ रहा। मामला चाहे बिहार का हो चाहे झारखंड का हो सीटों के लेकर महागठबंधन में खींचतान खत्म नहीं हो रही।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.