By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

इजराइली सॉफ्टवेयर पेगासस के जरिए जासूसी करवा रही मोदी सरकार : मदन मोहन झा

HTML Code here
;

- sponsored -

आज पटना कांग्रेस प्रदेश कार्यालय में एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया । प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने पेगासस जासूसी कांड को लेकर केंद्र सरकार को घेरा। मदन मोहन झा ने कहा कि 2017 में प्रधानमंत्री मोदी इजरायल गए थे।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : आज पटना कांग्रेस प्रदेश कार्यालय में एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया । प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने पेगासस जासूसी कांड को लेकर केंद्र सरकार को घेरा। मदन मोहन झा ने कहा कि 2017 में प्रधानमंत्री मोदी इजरायल गए थे। उन्होंने कहा कि इजराइली सॉफ्टवेयर पेगासस के जरिए जासूसी हो रही है । नरेंद्र मोदी की सरकार देश के कई संस्थानों की जासूसी करवा रही है। इजराइली पेगासस सॉफ्टवेयर से देश के प्रमुख लोगों की जासूसी कराई जा रही है ।

उन्होंने कहा कि देश के प्रमुख लोगों के जासूसी कराने का विरोध कांग्रेस करती है । पेगासस सॉफ्टवेयर के माध्यम से देश के प्रमुख लोग, विपक्षी, पत्रकार, अधिकारियों की जासूसी नागरिक अधिकारों का हनन है। प्रधानमंत्री इसका जवाब दें । विदेशी सॉफ्टवेयर से देश के प्रमुख लोगो की जासूसी गलत है या नहीं ? केंद्र सरकार जवाब दें इस सॉफ्टवेयर को कब और कितने में खरीदा गया है ? देश में जासूसी प्रकरण के कारण देश के गृह मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए ।

उन्होंने कहा कि आगामी 22 जुलाई को कांग्रेस पार्टी को देश में जासूसी प्रकरण के खिलाफ राजभवन मार्च निकालेंगे । केंद्र सरकार ने इस सॉफ्टवेयर का उपयोग कई राज्यों के सरकार गिराने में उपयोग किया है । बीजेपी सरकार देश की विपक्षी पार्टियों पर इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से ब्लैकमेल करने का काम कर रही है।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी इस सॉफ्टवेयर के खिलाफ बयान दे रहे हैं। क्या पता नीतीश कुमार की भी निजता से जुड़ी हुई बात केंद्र सरकार के द्वारा रिकॉर्ड की गई हो । उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार और बीजेपी के अच्छे रिश्ते पहले नहीं थे। नीतीश कुमार का भी कुछ रिकॉर्ड इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से बीजेपी ने करवाया होगा। जिस कारण नीतीश कुमार को बीजेपी से मिलने पर मजबूर होना पड़ा हो ।

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.