By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

सीमांचल में नीतीश कुमार और मिथिला में मोदी को चुनाव में आजमाएगा NDA

;

- sponsored -

आखिरकार बिहार में लोकसभा चुनाव को लेकर एनडीए में सीटों का बंटवारा आज हो गया. बिहार में बीजेपी और जेडीयू 17-17 और एलजेपी 6 सीटों पर चुनाव लड़ने जा रही है. रविवार को एनडीए ने बिहार की सभी 40 लोकसभा सीटों के लिए पार्टीवार घोषणा कर दी. 

-sponsored-

-sponsored-

सीमांचल में नीतीश कुमार और मिथिला में मोदी को चुनाव में आजमाएगा NDA

सिटी पोस्ट लाइव : आखिरकार बिहार में लोकसभा चुनाव को लेकर एनडीए में सीटों का बंटवारा आज हो गया. बिहार में बीजेपी और जेडीयू 17-17 और एलजेपी 6 सीटों पर चुनाव लड़ने जा रही है. रविवार को एनडीए ने बिहार की सभी 40 लोकसभा सीटों के लिए पार्टीवार घोषणा कर दी. जेडीयू को कौन सी सीट- वाल्मीकिनगर, सीतामढ़ी, झंझारपुर, सुपौल, किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया, मधेपुरा, गोपालगंज, सिवान, भागलपुर, बांका, मुंगेर, काराकाट, नालंदा, जहानाबाद और गया.

बीजेपी को कौन सी सीट- पश्चिम और पूर्वी चंपारण, शिवहर, मधुबनी, अररिया, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, महाराजगंज, सारण, उजियारपुर, बेगूसराय, पटना साहिब, पाटलीपुत्र, आरा, बक्सर, सासाराम और औरंगाबाद.लोजपा को मिली सीटों में हाजीपुर, वैशाली, समस्तीपुर, अऱरिया, जमुई, नवादा शामिल हैं.बंटवारे के तहत दोनों दलों JDU और BJP  ने अपनी सीटों में फेरबदल की है.राज्य की 40 सीटों में कुछ ऐसी सीटें हैं जहां से पिछला चुनाव बीजेपी ने लड़ा था. लेकिन इस बार ये सीटें अब जेडीयू के खाते में गई हैं.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

जिस तरह से सीटों का बटवारा हुआ है उससे यहीं संकेत मिलता है कि अल्पसंख्यक बहुल सीमांचल के इलाके में BJP ने नीतीश कुमार को आजमाने की कोशिश की है.कोसी के साथ-साथ सीमांचल इलाके में ज्यादातर सीटों पर जेडीयू ने अपने उम्मीदवार चुनाव में देने का फैसला लिया है. जिस सीट को लेकर सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है वो है भागलपुर सीट. भागलपुर सीट से पिछला चुनाव शाहनवाज हुसैन ने लड़ा था. लेकिन वो चुनाव हार गए थे. लेकिन इस बार इस सीट को बीजेपी से ट्रांसफर कर जेडीयू के खाते में कर दिया गया है हालांकि ये साफ नहीं हो सका है कि इस सीट से कौन उम्मीदवार होगा.

दरअसल 2014 के लोकसभा चुनाव में एनडीए का प्रदर्शन सीमांचल में बहुत खराब रहा था.ईन ईलाकों में पार्टी एक भी सीट हासिल नहीं कर पाई थी. तब कटिहार से राकांपा, किशनगंज से कांग्रेस और अररिया से राजद के अल्पसंख्यक उम्मीदवार ने जीत हासिल की थी. पूर्णिया से जेडीयू के संतोष कुशवाहा ने जीत हासिल की थी. इसके साथ ही उप चुनाव में भी इस इलाके में बीजेपी का खाता नहीं खुल सका था. पिछले चुनाव के रिजल्ट को देखते हुए इस बार जेडीयू ने सीमांचल में बीजेपी को डॉमिनेट किया है.

बिहार में इस बार जो सीटें जेडीयू के खाते में गई है उनमें सीमांचल की किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया सीट शामिल हैं जबकि अररिया सीट बीजेपी के खाते में गई है. सीमांचल से उलट अगर मिथिलांचल की बात करे तों इस इलाके में बीजेपी को ज्यादा सीटें मिली हैं और वो पीएम नरेंद्र मोदी की छवि को इस इलाके में भुनाने की कोशिश करेगी. बीजेपी के खाते में मिथिला की मधुबनी, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, बेगूसराय सीटें गई है. इस इलाके में एनडीए को पीएम नरेंद्र मोदी की छवि पर भरोसा है साथ ही नीतीश कुमार के सीएम रहते विकास के कार्यों का.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.