By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

नीतीश ने 15 साल बिहार को ठगने का काम किया: तेजस्वी यादव.

;

- sponsored -

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : रविवार को राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने नवादा के पकरीबरावां में वारिसलीगंज विधानसभा सीट (Warisaliganj Assembly Seat) से कांग्रेस के प्रत्याशी सतीश कुमार उर्फ मंटन सिंह के लिए चुनाव प्रचार किया. तेजस्वी ने यहां के कृषक कॉलेज धेवधा के खेल मैदान पर जनसभा को संबोधित करते हुए अपने चिर-परिचित अंदाज में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि 15 वर्षों के शासनकाल में नीतीश कुमार ने बिहार को बर्बाद करने का काम किया है. राज्य में बेरोजगारी, गरीबी और भ्रष्टाचार बढ़ा है. मजदूरों का पलायन लगातार जारी है. शिक्षा को चौपट कर दिया गया है और अस्पतालों की बदहाली किसी से छुपी हुई नहीं है.

तेजस्वी यादव ने  कहा कि 15 वर्षों में नीतीश कुमार ने प्रदेश में सुई तक का कारखाना नहीं खोला है और बात बेरोजगारी दूर करने की करते हैं. उन्होंने कहा कि आज हर विभाग में भ्रष्टाचार का बोलबाला है. सरकारी दफ्तरों में कोई भी काम बिना रिश्वत लिए नहीं होता है. तेजस्वी ने किसानों को लुभाते हुए कहा कि यदि 10 नवंबर के बाद उनकी सरकार आई तो कृषि कर्ज को माफ किया जाएगा. साथ ही नियोजित शिक्षकों को समान काम के बदले समान वेतनमान दिया जाएगा, उन्हें नियमित किया जाएगा. आंगनबाड़ी सेविकाओं, आशा बहनों और जीविका दीदियों को भी नियमित कर उन्हें वेतनमान दिए जाने की बात उन्होंने अपने संबोधन में कही.

तेजस्वी ने मतदाताओं से महागठबंधन के प्रत्याशी सतीश कुमार उर्फ मंटन सिंह के लिए जीत का आशीर्वाद मांगा. उन्होंने कहा कि आगामी 28 अक्टूबर को पंजा (हाथ) छाप पर बटन दबाकर भारी मतों से विजयी बनाएं.गौरतलब है कि बिहार के चुनावी दंगल में एनडीए गठबंधन की महागठबंधन से सीधी टक्कर है. बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए गठबंधन में जेडीयू, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा, विकासशील इंसान पार्टी शामिल हैं. राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेतृत्व वाले महागठबंधन में कांग्रेस और वामपंथी दल शामिल हैं. केंद्र में एनडीए की सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) बिहार में अलग होकर चुनाव लड़ रही है. इसके तहत एलजेपी ने जिन सीटों से जेडीयू चुनाव मैदान में हैं केवल वहां उसके खिलाफ अपने उम्मीदवार उतारे हैं.

बिहार में विधानसभा की 243 सीटों के लिए तीन चरणों में चुनाव होना है. इसके तहत प्रथम चरण के लिए 28 अक्टूबर को 71 सीटों पर, दूसरे चरण के लिए तीन नवंबर को 94 सीटों पर और तीसरे चरण के लिए सात नवंबर को 78 सीटों के लिए मतदान होगा.  वोटों की गिनती 10 नवंबर को होगी और उसी दिन तस्वीर साफ़ हो जायेगी कि बिहार में कौन बनाएगा सरकार? .

;

-sponsored-

Comments are closed.