By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

सदन के बाहर विपक्ष का जोरदार हंगामा,भाई वीरेंद्र ने कहा-बिहार में स्वास्थ्य सेवाएं ठप

;

- sponsored -

बिहार विधानमंडल का मॉनसून सत्र चल रहा है. लेकिन जिस तरह की बिहार में कुछ घटनाएं घटी और बिहार सरकार उसमें अक्षम साबित हुई उसपर हंगामा होने की पुरी संभावना थी. और आखिर वही हुआ. चमकी बुखार से लेकर पुणे में मजदूरों के मौत मामले पर राजद और माले ने सदन के बाहर जोरदार हंगामा किया. इस दौरान आरजेडी ने चमकी बुखार मामले में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे के इस्तीफे को लेकर जोरदार नारे लगाए.

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सदन के बाहर विपक्ष का जोरदार हंगामा,भाई वीरेंद्र ने कहा-बिहार में स्वास्थ्य सेवाएं ठप

सिटी पोस्ट लाइव- बिहार विधानमंडल का मॉनसून सत्र चल रहा है. लेकिन जिस तरह की बिहार में कुछ घटनाएं घटी और बिहार सरकार उसमें अक्षम साबित हुई उसपर हंगामा होने की पुरी संभावना थी. और आखिर वही हुआ. चमकी बुखार से लेकर पुणे में मजदूरों के मौत मामले पर राजद और माले ने सदन के बाहर जोरदार हंगामा किया. इस दौरान आरजेडी ने चमकी बुखार मामले में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे के इस्तीफे को लेकर जोरदार नारे लगाए. विधानसभा में कई दलों की ओर से कार्य स्थगन प्रस्ताव पेश किया गया. इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने कार्य स्थगन प्रस्ताव को स्वीकृत कर लिया.

इसके पहले सदन के बाहर आरजेडी और भाकपा माले ने मिलकर पुणे में मजदूरों की मौत के मामले को लेकर भी हंगामा किया. माले सदस्यों ने मृतक मजदूरों के परिजनों को दस-दस लाख रुपये मुआवजा देने की मांग की. इस बीच आरजेडी विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा कि बिहार में आज स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई हैं, कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है. उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव के आने से आरजेडी का उत्साह बढ़ गया है और पार्टी हर मोर्चे पर विफल रही नीतीश सरकार को जरूर घेरेगी. भाई वीरेंद्र ने कहा कि वे मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से पीड़ित बच्चों का हाल जानने जरूर जाएंगे.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

बता दें कि विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव लोकसभा चुनाव के बाद से गायब थें जिसे लेकर सता पक्ष कई बार सवाल उठा रहा था. कई जगह तो उनकी गुमशुदा होने के पोस्टर भी लग गये थें. वहीं आरजेडी नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने पत्रकारों के सवालों पर कहा था कि लोगों ने वोट नरेन्द्र मोदी को दिया है तो तेजस्वी यादव को क्यों खोज रहे हैं. पीएम को ढूँढना चाहिए. प्रतिपक्ष का काम आवाज उठाना होता है वह हमलोग कर रहे हैं. लेकिन इसी बीच आज महागठबंधन में भी दरार देखने को साफ़ मिला. क्योंकि चमकी बुखार से हुई मौत पर कांग्रेस ने महागठबंधन दलों का साथ छोड़ विधान परिषद में अलग से कार्य स्थगन प्रस्ताव लाने का फैसला किया है.                                                                                                                                                                                                                                      जे.पी.चंद्रा की रिपोर्ट

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.