By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पप्पू यादव ने कहा, विजेंद्र यादव हैं राजनीति का एड्स और कैंसर

;

- sponsored -

जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष और संरक्षक पप्पू यादव ने राज्य सरकार में ऊर्जा मंत्री विजेंद्र यादव के खिलाफ जमकर हमला बोला है. उन्होंने विजेंद्र यादव को राजनीति का एड्स और कैंसर कह दिया है.

-sponsored-

-sponsored-

पप्पू यादव ने कहा, विजेंद्र यादव हैं राजनीति का एड्स और कैंसर

सिटी पोस्ट लाइव- जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष और संरक्षक पप्पू यादव ने राज्य सरकार में ऊर्जा मंत्री विजेंद्र यादव के खिलाफ जमकर हमला बोला है. उन्होंने विजेंद्र यादव को राजनीति का एड्स और कैंसर कह दिया है. ये बातें उन्होंने पूर्णिया में एक प्रेस वार्ता में कहा. उन्होंने कहा कि बिजेंद्र यादव सुपौल में आकर हमें और रंजीता राजन को भैंस -भैंसा बोलते हैं तथा नचनिया-बजनियाँ बोलते हैं. लेकिन हमने कभी भी शब्दों की कोई मर्यादा का उलंघन नहीं किया . इस प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने राजद पर भी जमकर निशाना साधते हुए कहा कि राजद, भाजपा का बी टीम है.

उन्होंने कहा कि तेजस्वी और तेजप्रताप के अहंकार के कारण बिहार में भाजपा की बढ़त होगी. पप्पू यादव ने पूर्णिया में एक मई को जमीन विवाद में हुये झड़प मामले में कहा कि सफेदपोश औऱ अपराधियों के साथ प्रशासन की गठजोड़ के कारण जमीन विवाद की घटनाएं हो रही हैं. उन्होंने कहा कि जमीन विवाद में बड़े-बड़े माफिया और सफेदपोश शामिल हैं. इसमें करोड़ों-अरबों का खेल हो रहा है. उन्होंने प्रशासन से इसकी जांच कर कार्रवाई करने की मांग की है.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

पिछले हफ्ते पप्पू यादव ने राहुल गांधी के साथ सुपौल में मंच शेयर नहीं करने को लेकर तेजस्वी यादव पर निशाना साधा था. उन्होंने आरोप लगाया कि तेजस्वी यादव ने महागठबंधन का सर्वनाश कर दिया है. तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव को ललबबुआ कहते हुए उन्होंने तंज भी कसा. इसके अलावा पप्पू यादव ने तेजस्वी यादव को ‘आस्तीन का सांप’ करार दिया है.

आपको बता दें कि पप्पू यादव ने चुनाव के पूर्व महागठबंधन में आने के लिए बहुत प्रयास किया लेकिन वें महागठबंधन का हिस्सा नहीं बन सकें. उनका आरोप है कि तेजस्वी यादव ने उन्हें गठबंधन में आने से रोका. गौरतलब है कि पप्पू यादव की पत्नी रंजीता रंजन सुपौल से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव पर लड़ी हैं लेकिन राजद ने वहाँ अंत तक उनका विरोध किया और तेजस्वी ने उनका चुनाव प्रचार तक नहीं किया साथ ही वहाँ से राजद नेता ने निर्दलीय पर्चा भरकर चुनाव भी लड़ा. हालांकि यह पहली बार नहीं है कि पप्पू यादव ने तेजस्वी के खिलाफ हमला बोला है. वे हमेशा तेजस्वी का विरोध करते रहे हैं.
जे.पी.चंद्रा की रिपोर्ट

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.