By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बड़े खुलासे के लिए PK ने तारीख हीं नहीं वक्त भी मुकर्रर कर दिया है, 18 को 11 बजे पीसी

- sponsored -

जेडीयू से निकाले जाने के बाद प्रशांत किशोर को लेकर कई तरह के कयास लगाये जा रहे हैं। बिहार के सियासी गलियारों में यह सवाल लगातार टहल रहा है कि प्रशांत किशोर क्या बिहार की राजनीति में वापसी करने वाले हैं और अगर करने वाले हैं तो उनकी वापसी कैसी होगी?

Below Featured Image

-sponsored-

बड़े खुलासे के लिए PK ने तारीख हीं नहीं वक्त भी मुकर्रर कर दिया है, 18 को 11 बजे पीसी

सिटी पोस्ट लाइवः जेडीयू से निकाले जाने के बाद प्रशांत किशोर को लेकर कई तरह के कयास लगाये जा रहे हैं। बिहार के सियासी गलियारों में यह सवाल लगातार टहल रहा है कि प्रशांत किशोर क्या बिहार की राजनीति में वापसी करने वाले हैं और अगर करने वाले हैं तो उनकी वापसी कैसी होगी? उनका अगला राजनीतिक ठिकाना क्या होगा? और सवाल यह भी है कि 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव में उनकी भूमिका क्या होगी।

पहले पीके की ओर से एलान किया गया था कि वे 11 फरवरी को पटना आएंगे और अपनी आगे की रणनीति का खुलासा करेंगे लेकिन ऐन वक्त पर उन्होंने अपना प्लान बदल लिया और उनकी ओर से यह कहा गया कि वे 18 फरवरी को पटना आ रहे हैं।प्रशांत किशोर ने बड़े खुलासे के लिए तारीख हीं नही वक्त भी मुकर्रर कर दिया है। पीके 18 फरवरी को सुबह 11 बजे अपनी रणनीति का खुलासा कर देंगे। यानि 18 फरवरी को दोपहर तक तस्वीर साफ हो जाएगी और इस रहस्य से पर्दा उठ जाएगा कि प्रशांत किशोर अब क्या करने वाले हैं। आपको बता दें कि प्रशांत किशोर सीएए और एनआरसी का खुलकर विरोध करते रहे हैं।

Also Read

-sponsored-

यहां तक की जब जेडीयू ने सीएबी का लोकसभा और राज्यसभा में समर्थन किया तो उन्होंने इस फैसले पर सवाल उठाये और कहा कि यह पार्टी के संविधान के हीं खिलाफ है। यही नहीं उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह को सीएए और एनआरसी एक साथ लागू करने की चुनौती दी। उनके बयानों की वजह से हीं उन्हें जेडीयू ने पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया था।

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.