By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

PMCH में 32 मरीजों की मौत के बाद जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल खत्म, हटाए गए ऑर्थो विभागाध्यक्ष

- sponsored -

PMCH में 32 मरीजों की मौत के बाद जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल खत्म, हटाए गए ऑर्थो विभागाध्यक्ष

सिटी पोस्ट लाइव : पीएमसीएच में ढाई दर्जन से ज्यादा मरीजों की मौत के बाद आखिरकार आज पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल तीसरे दिन समाप्‍त हो गई. सरकार ने ऑर्थो विभागाध्‍यक्ष डॉ. विजय कुमार को पद से हटा दिया तब जाकर जूनियर डॉक्टर माने.दरअसल विभागाध्यक्ष पर आरोप था कि वो गैर-कानूनीढंग से एक निजी दावा कंपनी को फायदा पहुंचा रहे थे. जूनियर डॉक्टर्स पर उस कंपनी की दावा लिखने का दबाव बना रहे थे.

जूनियर डॉक्‍टरों का आरोप था कि खास कंपनी की महंगी दवा नहीं लिखने पर परीक्षा में उन्हें फेलकर दिया गया. इसी मामले को लेकर जूनियर हड़ताल पर चले गए थे. जूनियर क्रों की संघ ने विभागाध्‍यक्ष को पद से हटाने की मांग की थी. तमाम प्रयास के बाद भी जब जूनियर डॉक्टर नहीं माने तब जाकर ससरकार ने ऑर्थो के हेड़ को हटाया. इसके बाद हड़ताल तो समाप्‍त हो गई है.

Also Read

-sponsored-

पटना में मेडिकल कॉलेज एवं अस्‍पताल के जूनियर डॉक्टर तीन दिनों तक हड़ताल पर रहे. उन्‍होंने ऑर्थो विभाध्‍यक्ष डॉ. विजय कुमार पर आरोप लगाया था कि वे वैसे जूनियर डॉक्टरों को फेल करा देते थे, जो एक खास ब्रांड की दवाएं मरीजों के पुर्जे पर नहीं लिखते थे. ऐसा लंबे समय से चल रहा था. इस साल भी ऐसे कुछ जूनियर डॉक्‍टर परीक्षा में फेल कर दिए गए हैं.

आज विधान परिषद् में भी इसी मामले को लेकर कांग्रेस के विधान पार्षद प्रेमचंद मिश्र ने अपनी पार्टी के नेताओं के साथ सदन के गेट पर प्रदर्शन किया. नीतीश कुमार शर्म करो, मंगल पाण्डेय को बर्खास्त करो के नारे लगाए.प्रेमचंद मिश्र ने कहा कि सरकार ने विभागाध्यक्ष को हटाकर उनके आरोपों की पुष्टि कर दी है कि PMCH में एक निजी कंपनी को फायदा पहुंचाने का काम चल रहा था. प्रेमचंद मिश्र ने दोषी विभागाध्यक्ष के बर्खास्तगी, उनके मेडिकल लाईसेंस को रद्द करने की मांग की है.जूनियर डॉक्टरों ने मांग की है कि उनकी कॉपियों की दोबारा जांच हो. उन्‍होंने ऑर्थो विभागाध्‍यक्ष को पद से हटाने की भी मांग की है.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.