By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

प्रशांत किशोर को राजनीति की समझ नहीं, इसे बाजार की तरह समझते हैं

- sponsored -

प्रशांत किशोर का टीएमसी के लिए चुनाव प्रचार और रणनीति तैयार करने की ख़बरों के बीच लगातार बयान सामने आ रहे हैं. जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि पीके अगर ममता बनर्जी के लिए रणनीति बनाते हैं तो इसमें कुछ भी गलत नहीं है.

प्रशांत किशोर को राजनीति की समझ नहीं, इसे बाजार की तरह समझते हैं

सिटी पोस्ट लाइव : प्रशांत किशोर का टीएमसी के लिए चुनाव प्रचार और रणनीति तैयार करने की ख़बरों के बीच लगातार बयान सामने आ रहे हैं. जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि पीके अगर ममता बनर्जी के लिए रणनीति बनाते हैं तो इसमें कुछ भी गलत नहीं है. वहीँ अब बीजेपी की ओर प्रतिक्रिया आई है. भाजपा के राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा ने कहा है कि जेडीयू उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर को भारतीय राजनीति की समझ नहीं है. सिन्हा के मुताबिक प्रशांत किशोर राजनीति को बाजार की तरह देखते हैं. बाजार में मांग और पूर्ति की समस्या जहां भी होती है, वहां प्रशांत किशोर नजर आते हैं.

प्रशांत किशोर पर निशाना साधते हुए जदयू को भी चेताया है. उन्होंने कहा कि जेडीयू को सोचना होगा उसकी पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किस-किस पार्टी को अपनी सेवाएं देंगे. प्रशांत किशोर अगर ममता बनर्जी की पार्टी के लिए काम करेंगे तो ये लोकतंत्र के लिए लाभदायक नहीं है. बीजेपी सांसद ममता बनर्जी पर भी निशाना साधते हुए कहा है कि वो जिसकी चाहें मदद ले लें लेकिन उनकी हार निश्चित है.

Also Read

-sponsored-

रअसल केंद्र की सत्ता में भागीदारी नहीं मिलने या यूँ कहें कि वो लेना ही नहीं चाहते थे. जिसके बाद बिहार की राजनीति किसी गर्म तवे की भांति और गर्म होती चली गई. इसके बाद बयानबाजी का दौर जारी हुआ, विपक्ष ने जेडीयू को ऑफर दिया तो जेडीयू की सहयोगी दल भाजपा ने ऑफर देने वालें नेता को ही NDA में आने का न्योता दे डाला. इसके बाद इफ्तार पार्टी में नीतीश  की मांझी से मुलाक़ात फिर गिरिराज का इफ्तार को लेकर ट्वीट करना. इन सबके बीच जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का ममता बनर्जी  के लिए रणनीति तैयार करना कही न कही बड़े तूफ़ान की आशंका जाहिर कर रहा है.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.