By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बिहार की समस्तीपुर सीट लोक सभा सीट से चुनाव लड़ेगें प्रिंस राज

;

- sponsored -

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

बिहार की समस्तीपुर सीट लोक सभा सीट से चुनाव लड़ेगें प्रिंस राज

सिटी पोस्ट लाइव : समस्तीपुर लोक सभा क्षेत्र के सांसद रामचंद्र पासवान के निधन के बाद उप-चुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है. समस्तीपुर में लोकसभा का उपचुनाव (Lok sabha Bylection) में उम्मीदवारी को लेकर अभी से दावेदारी की जाने लगी है. इस सीट को लेकर आरजेडी और कांग्रेस के बीच घमाशान जारी है वहीँ जेडीयू के नेता बिहार सरकार के दलित मंत्री महेश्वर हजारी भी इस सीट के दावेदार हैं.ऐसे में यहां से कौन-कौन उम्मीदवार होंगे, इसको लेकर घमाशान शुरू हो गई है.

लोकसभा चुनाव में समस्तीपुर की सुरक्षित सीट से एलजेपी की तरफ से रामचंद्र पासवान की जीत हुई थी. रामचंद्र पासवान केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के छोटे भाई भी थे, जिनका दिल का दौरा पड़ने के बाद निधन हो गया था. वहां उपचुनाव होना है. यह सीट पिछले लोकसभा चुनाव में एलजेपी के खाते में गई थी. अब रामचंद्र पासवान के निधन के बाद उस सीट पर उनके छोटे पुत्र प्रिंस राज के चुनाव में उतरने के लिए तैयार हैं. एलजेपी ने प्रिंस राज को चुनाव लड़ाने का मन बना लिया है.ऐसे में एलजेपी से यह सीट छीन लेना एनडीए के किसी नेता के लिए आसन काम नहीं होगा.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

एलजेपी प्रवक्ता अशरफ अंसारी का कहना है कि  ‘समस्तीपुर से चुनाव लड़ने को लेकर अभीतक कोई निर्णय नहीं हुआ है. लेकिन यह सीट एलजेपी की है और उसी की रहेगी. इस सीट पर कोई दुविधा की स्थिति नहीं है. वहां से हमारे दलित सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामचंद्र पासवान चुनाव लड़े थे. एनडीए की सबसे बड़ी घटक दल बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन का कहना है कि उन्हें नहीं लगता कि महागठबंधन के लोग वहां चुनाव भी लड़ेंगे, लेकिन, लड़े तो अच्छा रहेगा.’उन्होंने कहा कि एनडीए के भीतर समस्तीपुर उपचुनाव को लेकर कोई खींचतान नहीं है.दरअसल, अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के ठीक पहले इस सीट पर किसी तरह के विवाद से एनडीए के दल बचेंगे, लिहाजा यह सीट एलजेपी के ही खाते में बने रहने की संभावना है.

लेकिन, महागठबंधन में इस सीट को लेकर अबतक कुछ साफ स्थिति नहीं दिख रही है. लोकसभा चुनाव में महागठबंधन की तरफ से इस सीट पर कांग्रेस के अशोक राम चुनाव मैदान में थे. कांग्रेस एक बार फिर साफ तौर पर इस सीट पर अपना दावा ठोक रही है.कांग्रेस के बिहार के सह प्रभारी वीरेंद्र राठौड़ का कहना है कि ‘पिछली बार समस्तीपुर की लोकसभा सीट कांग्रेस के खाते में आई थी, इसलिए कोई चर्चा की जरूरत ही नहीं.’लेकिन  महागठबंधन की सबसे बड़ी पार्टी आरजेडी के नेता नेता विनोद श्रीवास्तवका कहना है कि महागठबंधन में कोई विवाद नहीं है और जो भी महागठबंधन का उम्मीदवार होगा, समस्तीपुर लोकसभा सीट से उसी की जीत होगी.’

लेकिन विनोद श्रीवास्तव ये दावा करने से भी नहीं चुके कि ‘धरातल पर आरजेडी काफी मजबूत है. तेजस्वी ने अब कमान संभाल लिया है, लिहाजा उपचुनाव में जीत महागठबंधन की ही होगी.अब सबको इंतज़ार चुनाव के तारीख के एलान का है. तारीख का एलान होते ही तस्वीर साफ़ हो जायेगी.लेकिन ये मानकर चलिए कि यहाँ मुकाबला कांग्रेस और एलजेपी के बीच ही होगा.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.