By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

गुस्से में थी राबड़ी देवी, बस एक गलती कर गयी और अब डिप्टी सीएम सुशील मोदी हमलावर हैं

;

- sponsored -

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी कल बहुत गुस्से में थी। ‘चमकी’ बुखार से हुए मासूमों की मौत पर उन्होंने सीएम नीतीश कुमार पर हमला किया। राबड़ी ने ताबड़तोड़ कई ट्वीट किए और बेहद आक्रामक तरीके से नीतीश पर निशाना साधा। लेकिन हमले की हड़बड़ी में राबड़ी देवी एक गलती कर गयी।

-sponsored-

-sponsored-

गुस्से में थी राबड़ी देवी, बस एक गलती कर गयी और अब डिप्टी सीएम सुशील मोदी हमलावर हैं

सिटी पोस्ट लाइवः बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी कल बहुत गुस्से में थी। ‘चमकी’ बुखार से हुए मासूमों की मौत पर उन्होंने सीएम नीतीश कुमार पर हमला किया। राबड़ी ने ताबड़तोड़ कई ट्वीट किए और बेहद आक्रामक तरीके से नीतीश पर निशाना साधा। लेकिन हमले की हड़बड़ी में राबड़ी देवी एक गलती कर गयी।

[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

Also Read

उन्होंने अपने एक ट्वीट में लिख दिया कि चमकी बुखार से एक हजार बच्चों की मौत हो गयी है।’ राबड़ी देवी ने अपने ट्वीट में लिखा कि-‘एनडीए सरकार की घोर लापरवाही, कुव्यवस्था सीएम की महामारी को लेकर अनुत्तरदायी, असंवेदनशील और अमानवीय अप्रोच, लचर व भ्रष्ट व्यवस्था, स्वास्थ्य मंत्री के गैर-जिम्मेदाराना व्यवहार एवं भ्रष्ट आचरण के कारण गरीबों के 1000 से ज्यादा मासूम बच्चों की चमकी बुखार के बहाने हत्या की गयी है।’

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने राबड़ी देवी के एक हजार बच्चों की मौत वालें आकंड़ो को मनगढ़ंत बताया है। उन्होंने लिखा कि-‘राजद के लोगों को हाल के लोकसभा चुनाव के दौरान अमर्यादित टिप्पणी और तथ्यहीन आरोप लगाने के कारण जनता ने जीरो पर आउट किया, लेकिन मात्र 22 दिन बाद मौका मिलते हीं उनकी बोली फूटने लगी। राबड़ी बतायें कि उनके शासन में मेडिकल काॅलेजों की क्या दशा थी? एक पूर्व मुख्यमंत्री से लोग जानना चाहेंगे कि हाल में चमकी बुखार से 1000 बच्चों की मौत के आंकड़े का आधार क्या है? क्या मौत के मनगढ़त आंकड़े पेश करना किसी जिम्मेदार व्यक्ति का काम हो सकता है?’

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.