By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

रघुवंश सिंह का दावा : एनडीए में मचनेवाली है भगदड़, कई विधायक बदलेंगे पाला

Above Post Content

- sponsored -

गौरतलब है कि एक तरफ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एकबार फिर विशेष  दर्जा की मांग को तेज कर देने का संकेत दिया है वहीं   दूसरी तरफ उनकी पार्टी की तरफ से आज बीजेपी को गिरिराज सिंह के बहाने  चेतावनी भी दे दी गई है. जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने यह कहकर कि बीजेपी के साथ

Below Featured Image

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार में बीजेपी के सहयोगी दलों के बीच सीटों के बटवारे को लेकर चल रही खींचतान को लेकर बिहार की राजनीति गरमा गई है. राम विलास पासवान के भाई पशुपति के इस बयान के बाद कि उनकी पार्टी पिछलीबार  जितना सीटों पर चुनाव लड़ी थी, उतनी सीटों पर लडेगी और नीतीश कुमार द्वारा फिर से बिहार को विशेष दर्जा दिए जाने की मांग के बाद एनडीए में घमशान तेज हो गया है. अब इस घमशान पर आरजेडी के नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने निशाना साधा है. सिंह ने कहा कि  बिहार में एनडीए में भगदड़ जैसी स्थिति है और सत्तारूढ़ गठबंधन के कई विधायक पाला बदलना चाहते हैं. आरजेडी  के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि अमित शाह के साथ बैठक के बाद मामला सुलझ जाने का दावा  बेमानी है.उन्होंने कहा, ‘‘एनडीए  में न केवल टूट होनेवाली है. बल्कि यहां एक भगदड़ भी होगी. जल्द ही एनडीए में केवल अकेले बीजेपी  ही बचेगी.’ उन्होंने कहा कि ‘हमने देखा है कि किस तरह से उसकी सबसे पुरानी सहयोगी शिवसेना नाराज है. आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं तेदेपा प्रमुख चंद्रबाबू नायडू गठबंधन से अलग हो गये.ऐसी ही परिस्थिति बिहार में भी बन रही है.

गौरतलब है कि एक तरफ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एकबार फिर विशेष  दर्जा की मांग को तेज कर देने का संकेत दिया है वहीं   दूसरी तरफ उनकी पार्टी की तरफ से आज बीजेपी को गिरिराज सिंह के बहाने  चेतावनी भी दे दी गई है. जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने यह कहकर कि बीजेपी के साथ गठबंधन सुशासन के लिए ही साम्प्रदायिक  सद्भाव बिगाड़ने  और उन्माद फ़ैलाने के लिए नहीं, जेडीयू ने साफ़ कर दिया है कि वह कभी भी बड़ा फैसला ले सकती है.हाल के दिनों में जिस तरह से सांप्रदायिक सद्भाव बिगड़ने की कोशिशें बिहार में तेज हुई हैं, उससे नीतीश कुमार का सेक्यूलर क्रेडेंशियल ही खतरे में पड़  गया है .ऐसे में नीतीश कुमार उसे बचाए रखने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं.

गौरतलब है कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बिहार से जाने के दो दिन बाद अचानक एनडीए बयानबाजी तेज हो गयी है. ‘आॅल इज वेल’ का दावा के बीच बड़े बड़े बयान देने से भी नेता पीछे नहीं हट रहे हैं. दिन में रालोसपा के उपेंद्र कुशवाहा के सीट शेयरिंग के बाद लोजपा का कुछ अलग ही बयान आया है. लोजपा के पशुपति नाथ पारस ने कहा कि बिहार में नीतीश कुमार और रामविलास के अलावा एनडीए में कोई बड़ा चेहरा नहीं.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.