By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

राजमहल, दुमका व गोड्डा में थम गया चुनाव प्रचार का शोर

;

- sponsored -

झारखंड में लोकसभा चुनाव के चौथे और अंतिम चरण के प्रचार का शोर शुक्रवार की शाम चार बजे थम गया। उम्मीदवार अब केवल घर-घर जाकर ही जनसंपर्क कर सकेंगे। देश के सातवें और राज्य के चौथे चरण में संथाल परगना के तीन लोकसभा क्षेत्रों राजमहल, दुमका और गोड्डा में 19 मई को मतदान होना है।

-sponsored-

-sponsored-

राजमहल, दुमका व गोड्डा में थम गया चुनाव प्रचार का शोर

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: झारखंड में लोकसभा चुनाव के चौथे और अंतिम चरण के प्रचार का शोर शुक्रवार की शाम चार बजे थम गया। उम्मीदवार अब केवल घर-घर जाकर ही जनसंपर्क कर सकेंगे। देश के सातवें और राज्य के चौथे चरण में संथाल परगना के तीन लोकसभा क्षेत्रों राजमहल, दुमका और गोड्डा में 19 मई को मतदान होना है। अंतिम चरण के इन तीन सीटों पर कुल 42 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। राजमहल में 14, दुमका में 15 और गोड्डा में 13 उम्मीदवार हैं। इन तीन संसदीय क्षेत्रों में मतदाताओं की कुल संख्या 45,64,681 है। इनमें 23,64,541 पुरूष, 22,00,119 महिलायें और 21 थर्ड जेंडर हैं। मतदान के लिये कुल 6258 मतदान केन्द्र बनाये गये हैं। इनमें 489 शहरी और 5769 ग्रामीण क्षेत्रों में हैं। इस चरण में जिन प्रमुख उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा, उनमें राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन, सांसद निशिकांत दुबे व विजय कुमार हांसदा और विधायक प्रदीप यादव शामिल हैं। चुनाव प्रचार के अंतिम क्षणों में पार्टियों और उम्मीदवारों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी।  प्रधानमंत्री ने देवघर के कुंडा एयरपोर्ट मैदान में गोड्डा, दुमका और राजमहल के भाजपा उम्मीदवारों के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित किया। भाजपा के स्टार प्रचारक एवं भोजपुरी गायक मनोज तिवारी ने दुमका से भाजपा उम्मीदवार सुनील सोरेन के पक्ष में जनसभा को संबोधित किया। केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी और गिरिराज सिंह ने भी संथाल परगना में भाजपा उम्मीदवारों के पक्ष में चुनाव प्रचार किया।उधर विपक्षी गठबंधन की ओर से राज्यसभा में प्रतिपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद और पूर्व केंद्रीय मंत्री तारिक अनवर ने संथाल परगना में चुनाव प्रचार किया। विपक्षी गठबंधन के दो प्रमुख नेताओं झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन, झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी दुमका, राजमहल और गोड्डा संसदीय क्षेत्रों में कई सभाओं को संयुक्त रूप से संबोधित किया। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी की स्टार प्रचार वृंदा करात ने राजमहल से पार्टी के उम्मीदवार गोपिन सोरेन के पक्ष में चुनाव प्रचार किया। संथाल परगना की इन तीन सीटों में से दो राजमहल और दुमका अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिये सुरक्षित है। ये दोनो सीट अभी झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के कब्जे में है। जबकि एक सामान्य सीट गोड्डा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पास है। 2014 के लोकसभा चुनाव में झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरेन ने दुमका में भाजपा के सुनील सोरेन को हराया था। राजमहल  सीट पर झामुमो के ही विजय कुमार हांसदा ने भाजपा के हेमलाल मुर्मू को पराजित किया था। जबकि गोड्डा में भाजपा के निशिकांत दुबे ने कांग्रेस के फुरकान अंसारी को हराया था। इस बार फुरकान अंसारी को छोड़ कर अन्य  सभी उम्मीदवार फिर एक दूसरे के आमने- सामने हैं। गोड्डा लोकसभा सीट  इस बार  विपक्षी गठबंधन के तहत झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो)  के खाते में चली गयी। झाविमो ने गोड्डा से पार्टी विधायक दल के नेता प्रदीप यादव को मैदान में उतारा है। भाजपा  ने इन तीनों सीटों पर इस बार भी अपने पुराने चेहरों पर ही भरोसा जताया है।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.