By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

नीतीश के दोस्त चला रहे तेजस्वी की पार्टी, आरजेडी विधायक ने किया खुलासा

Above Post Content

- sponsored -

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव बिहार के पाॅलिटिकल सीन से लगातार गायब है। एक महीने का लंबा अज्ञातवास खत्म करने के बावजूद वे एक दो मौकों पर हीं बिहार के पाॅलिटिकल सीन में वापस नजर आए हैं अन्यथा वे राजनीतिक रूप से फिलहाल एक्टिव दिखायी नहीं देते।

Below Featured Image

-sponsored-

नीतीश के दोस्त चला रहे तेजस्वी की पार्टी, आरजेडी विधायक ने किया खुलासा

सिटी पोस्ट लाइवः नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव बिहार के पाॅलिटिकल सीन से लगातार गायब है। एक महीने का लंबा अज्ञातवास खत्म करने के बावजूद वे एक दो मौकों पर हीं बिहार के पाॅलिटिकल सीन में वापस नजर आए हैं अन्यथा वे राजनीतिक रूप से फिलहाल एक्टिव दिखायी नहीं देते। तेजस्वी यादव सदन भी नहीं जा रहे हैं इसलिए आरजेडी से अक्सर यह सवाल पूछा जा रहा है कि आखिर तेजस्वी यादव हैं कहां?

राजद विधायक भाई विरेन्द्र ने आज इस सवाल का जवाब भी दिया और यह खुलासा भी कर दिया कि तेजस्वी के बाद पार्टी में नंबर दो की हैसियत किसकी है और तेजस्वी यादव के नहीं रहने पर पार्टी किसके हाथों में है। आरजेडी विधायक भाई विरेन्द्र ने कहा कि ठीक है कि तेजस्वी यादव सदन नहीं आ रहे हैं लेकिन आरजेडी का हर विधायक तेजस्वी यादव है और उनकी अनुपस्थिति में आरजेडी के विधायक अब्दुल बारी सिद्धकी के नेतृत्व में अपनी जिम्मेवारी का निर्वहन कर रहे हैं। अब्दुल बारी सिद्धकी पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं।

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

जाहिर है भाई विरेन्द्र के बयान से यह बिल्कुल स्पष्ट है कि आरजेडी में अब अब्दुल बारी सिद्धकी की साख नंबर दो वाली है और तेजस्वी यादव के बाद वे पार्टी के नेतृत्वकर्ता की हैसियत मे हैं। अब्दुल बारी सिद्धकी का नाम बिहार के राजनीतिक गलियारों में इन दिनों खूब चर्चा में है क्योंकि उनके और सीएम नीतीश कुमार के बीच नजदीकियां बढने के कयास भी चल रहे हैं। हाल हीं दरभंगा में सीएम नीतीश कुमार जब अब्दुल बारी सिद्धकी के घर पहुंच गये और अकेले में घंटो बातचीत की तो राजनीतिक हलकों में चर्चा का बाजार गर्म हो गया कि सिद्धकी पाला बदलने वाले हैं या फिर नीतीश कुमार बीजेपी के मैसेज देने के लिए आरजेडी के कद्दावर नेता से मिलने पहुंचे थे।

बाद में इस मुलाकात को सामान्य मुलाकात बताया गया और आरजेडी ने भी कहा कि यह कोई राजनीतिक मुलाकात नहीं थी नीतीश कुमार और अब्दुल बारी सिद्धकी के बीच पहले से नजदीकियां रही है, दोनों आंदोलन के साथी रहे हैं और दोस्त की तरह हैं। जाहिर है बकौल आरजेडी नीतीश के यह दोस्त सिद्धकी तेजस्वी यादव की गैर मौजूदगी में राजद को संभाल रहे हैं।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.