City Post Live
NEWS 24x7

पार्टी तोड़ने के बाद पटना पहुंचे LJP के बागी नेता, पशुपति पारस भी आएंगे आज

- Sponsored -

-sponsored-

- Sponsored -

सिटी पोस्ट लाइव : दिल्ली में बैठकर बड़ा खेल करने के बाद एलजेपी के बागी नेता अब पटना लौटने लगे हैं. एलजेपी में रातोरात तख्ता पलट करने वाले चिराग पासवान (Chirag Paswan) के चाचा और पशुपति पारस (Pashupati Paras) भी आज बुधवार की शाम को पटना आ रहे हैं. जानकारी के मुताबिक पारस शाम को 3.30 की फ्लाइट से पटना आ रहे हैं. मंगलवार को भी लोजपा में नेतृत्व परिवतर्न के बाद एनडीए नेता कई नेता पटना उतर चुके हैं. लोजपा, जेडीयू और बीजेपी के कई नेताओं के पटना पहुंचने से सियासी हलचल बढ़ने की संभावना है.

एलजेपी की टूट में भूमिका निभाने वाले जेडीयू विधान पार्षद संजय सिंह ने दिल्ली से पटना पहुंचने पर कहा कि एलजेपी में टूट परिवार का इंटरनल मामला है, इसमे हमारी दखलंदाजी नही है. एलजेपी के विवाद में जेडीयू की कोई भूमिका नही है. एलजेपी के लोग चाहते थे कि एनडीए के साथ रहें लेकिन चिराग की जिद के कारण 2020 के चुनाव में एनडीए से अलग हुए. उन्होंने कहा कि चिराग को लेकर पार्टी में भारी असंतोष था.एलजेपी लोजपा सांसद महबूब अली कैसर, वीणा सिंह, जेडीयू नेता संजय सिंह, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल समेत कई अन्य नेता मंगलवार की शाम को पटना लौट चुके हैं.

लोजपा सांसद वीणा सिंह के पति और जदयू एमएलसी दिनेश सिंह भी पटना पहुंचे. पटना पहुंचने पर दिनेश सिंह ने कहा कि मुझे जानकारी नहीं है कि क्या चल रहा है. मैं जदयू में हूं मेरी पत्नी लोजपा की सांसद हैं. चिराग पासवान से चूक हुई है जिसके कारण बाकी के सांसदों ने यह निर्णय लिया. हर पार्टी में नेता का परिवर्तन होता है.

सांसद महबूब अली कैसर ने पटना पहुंचने पर कहा कि बिहार चुनाव में चिराग ने एनडीए में रहते हुए जदयू के विरोध में चुनाव लड़कर बड़ी भूल की.इसी कारण हम लोगों ने नेतृत्व परिवर्तन का निर्णय लिया. चिराग में अनुभव की भारी कमी है, इसलिए हमने पशुपतिनाथ पारस का समर्थन किया. चिराग ने बिहार की राजनीति का नब्ज नहीं पकड़ा और बड़ी भूल की जिसका खामियाजा उन्हें और पूरी पार्टी को भुगतना पड़ा. चिराग पासवान को हमारी शुभकामना है. इस परिस्थिति से निपट कर वे आगे बढ़ेंगे और एक बड़े नेता बनेंगे. उन्होंने कहा कि लोजपा में कोई टूट नहीं हुई है. कैसर ने कहा कि ललन सिंह के कहने पर पार्टी में टूट नहीं हुई है. हमारी मुलाकात ललन सिंह से वीणा सिंह के घर पर हुई थी. हम चाहते हैं कि चिराग पासवान हमारे साथ रहे. लोजपा का अगला अध्यक्ष कौन होगा यह बैठक में तय किया जाएगा.

- Sponsored -

-sponsored-

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

- Sponsored -

Comments are closed.