By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

रघुवंश प्रसाद सिंह ने फिर दिया नीतीश कुमार को महागठबंधन में आने का न्यौता

;

- sponsored -

आरजेडी के नेता रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuvansh Prasad Singh) ने एकबार फिर से नीतीश कुमार को महागठबंधन का नेत्रित्व करने का न्यौता दे दिया है. रघुबंश सिंह ने बुधवार को कहा कि बीजेपी को पछाड़ने के लिए अगर नीतीश कुमार (Nitish Kumar) हम लोगों के साथ आएं तो उनका स्वागत करेंगे.

-sponsored-

-sponsored-

रघुवंश प्रसाद सिंह ने फिर दिया नीतीश कुमार को महागठबंधन में आने का न्यौता

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार में बीजेपी (BJP) और जेडीयू (JDU) के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर चल रही खींचतान से RJD की उम्मीद बढ़ गई है. उसे लगता है कि मुख्यमंत्री की कुर्सी की वजह से नीतीश कुमार फिर से बीजेपी को छोड़ महागठबंधन के साथ आ सकते हैं.आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuvansh Prasad Singh) ने एकबार फिर से नीतीश कुमार को महागठबंधन का नेत्रित्व करने का न्यौता दे दिया है. रघुबंश सिंह ने बुधवार को कहा कि बीजेपी को पछाड़ने के लिए अगर नीतीश कुमार (Nitish Kumar) हम लोगों के साथ आएं तो उनका स्वागत करेंगे.

रघुबंश प्रसाद सिंह ने कहा कि सीपीआई-एमएल समेत सभी क्षेत्रीय पार्टियों को एक साथ मर्ज हो जाना चाहिए. कांग्रेस राष्ट्रीय पार्टी है इसलिए वो गठबंधन में बनी रहे. हमें एक साथ एनडीए को उखाड़ फेंकने के लिए लड़ाई लड़नी चाहिए. अपनी महत्वकांक्षा के लिए आपस में लड़ना अच्छी बात नहीं है.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

उन्होंने सीटों के बटवारे के सवाल पर कहा कि उपचुनाव में कौन कितने सीटों पर लड़ेगा, इसका फैसला महागठबंधन की बैठक में किया जाएगा. अभी जिसको जो बोलना है बोलने दीजिए. जीतन राम मांझी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि वो हमेशा कुछ न कुछ बोलते रहते हैं. उनकी बातों को छोड़ देनी चाहिए. समय आने पर सब ठीक हो जाएगा

आरजेडी के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि साल 2015 में लालू जी ने नीतीश कुमार को अपना नेता माना था. इस भरोसे के साथ कि वह नरेंद्र मोदी और बीजेपी के खिलाफ एक मजबूत लड़ाई लड़ेगें. लेकिन तब नीतीश जी हमारा साथ छोड़कर चले गए. उन्हें सोचना चाहिए बीजेपी के साथ रहकर उन्हें कितना अपमानित होना पड़ रहा है. अब तो उन्हें तय करना है कि अब बीजेपी के साथ रहना है या फिर महागठबंधन के साथ आकर मोदी के नेत्रित्व को चुनौती देनी है.गौरतलब है कि पहले भी शिवानन्द तिवारी नीतीश कुमार को देश का एकमात्र नेता बता चुके हैं जो मोदी का मुकाबला करने में सक्षम है.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.