By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

RJD ने पप्पू यादव की पत्नी रंजीता रंजन के खिलाफ सुपौल में खोल दिया है मोर्चा

;

- sponsored -

-sponsored-

-sponsored-

RJD ने पप्पू यादव की पत्नी रंजीता रंजन के खिलाफ सुपौल में खोल दिया है मोर्चा

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार में महागठबंधन के घटक दलों के बीच घमशान जारी है. तेजस्वी यादव के निशाने पर पप्पू यादव तो हैं ही साथ ही उनकी पत्नी कांग्रेस प्रत्याशी रंजीता रंजन को भी चुनाव हराने की व्यवस्था कर दी है.अब RJD  और रंजीत रंजन के बीच जारी विवाद जंग में तब्दील हो चूका है.RJD  ने एक ओर अपने निर्दलीय प्रत्याशी दिनेश यादव को समर्थन देने की औपचारिक घोषणा कर दी है. इसकी वजह से रंजीता की राह और भी मुश्किल होती जा रही हैं. तेजस्वी यादव पप्पू यादव के मधेपुरा से महागठबंधन के प्रत्याशी शरद यादव के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरने को लेकर नाराज हैं. उनकी पार्टी ने यह साफ़ कर दिया है कि पप्पू यादव जबतक  अपना नामांकन वापस नहीं लेगें RJD सुपौल में कांग्रेस प्रत्याशी और उनकी पत्नी रंजीता रंजन का समर्थन नहीं करेगी.

पप्पू यादव इसके लिए तैयार नहीं हैं.सोमवार को नामांकन वापस लेने की अंतिम तारीख थी. इसके बावजूद भी पप्पू यादव ने मधेपुरा से अपना नामांकन वापस नहीं लिया. फिर क्या था RJD ने भी सुपौल में पप्पू यादव की पत्नी रंजीता रंजन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया .RJD  विधायक और जिला अध्यक्ष यदुवंशी यादव ने साफ़ कह दिया है कि RJD के निर्दलीय प्रत्याशी दिनेश यादव ने उनसे समर्थन की मांग की है, जिसे एक बैठक के बाद निर्णय लेकर समर्थन कर दिया जाएगा.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

RJD के स्थानीय नेताओं के इस स्टैंड के साथ तेजस्वी यादव खड़े दिख रहे हैं . सूत्रों के अनुसार  पूरे चुनाव में RJD  का कोई वरिष्ठ नेता सुपौल नहीं जाएगा. स्थानीय RJD नेताओं ने साफ़ कर दिया है कि रंजीता रंजन के पक्ष में अगर RJD का कोई नेता वोट मांगने आएगा तो उसका विरोध किया जाएगा.RJD के स्थानीय नेताओं का कहना है कि 15 साल से RJD ने सुपौल की सीट रंजीता रंजन को सौंपा है.लेकिन आगे ऐसा नहीं होगा. अब RJD  रंजीता रंजन का समर्थन नहीं करेगा.RJD  विधायक यदुवंशी यादव ने कहा कि एक और पप्पू यादव दो-दो हाथ करने की बात करते हैं और दूसरी ओर यहां पर समर्थन खोज रहे हैं, जो अब कतई बर्दाश्त नहीं है. यदुवंश यादव ने कहा कि निर्दल चुनाव मैदान में उतरे RJD कार्यकर्ता दिनेश यादव के समर्थन पर पार्टी जल्द ही फैसला लेगी.अगर RJD नेता अपने इस स्टैंड पर कायम रहते हैं तो रंजीता रंजन की संसद की राह बेहद मुश्किल हो जायेगी. पप्पू यादव मधेपुरा में शरद यादव को कितना नुकशान पहुंचा पायेगें ,पता नहीं लेकिन वगैर RJD के समर्थन के सुपौल में उनकी पत्नी का चुनाव जीतना बेहद मुश्किल हो जाएगा.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.