By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

तेजस्वी होंगे राष्ट्रीय अध्यक्ष या लालू के हाथ में हीं रहेगी राजद की कमान, 10 को खत्म होगा सस्पेंस

- sponsored -

10 दिसम्बर की तारीख आरजेडी के लिहाज से बेहद अहम तारीख है क्योंकि इसी दिन यह सस्पेंस पूरी तरह खत्म हो जाएगा कि क्या आरजेडी के नये राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी यादव होंगे या फिर यह ताज लालू के सर हीं सजेगा। तेजस्वी यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने को लेकर आरजेडी में नेताओं की अलग-अलग राय है।

-sponsored-

तेजस्वी होंगे राष्ट्रीय अध्यक्ष या लालू के हाथ में हीं रहेगी राजद की कमान, 10 को खत्म होगा सस्पेंस

सिटी पोस्ट लाइवः 10 दिसम्बर की तारीख आरजेडी के लिहाज से बेहद अहम तारीख है क्योंकि इसी दिन यह सस्पेंस पूरी तरह खत्म हो जाएगा कि क्या आरजेडी के नये राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी यादव होंगे या फिर यह ताज लालू के सर हीं सजेगा। तेजस्वी यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने को लेकर आरजेडी में नेताओं की अलग-अलग राय है। पार्टी में कई लोग यह मानते हैं कि अब तेजस्वी के हाथों में पार्टी की कमान दे दी जानी चाहिए ताकि वे खुलकर फैसलें ले सकें और 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव के लिए आरजेडी की रणनीति को धार दे सकें। जबकि राजद में हीं कई नेता यह मानते हैं कि पार्टी की कमान अभी लालू यादव के हाथों में हीं रहनी चाहिए।

फिलहाल अभी तक यह सस्पेंस हीं है कि चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव पार्टी की कमान अब भी अपने हाथों में हीं रखेंगे या फिर तेजस्वी को कमान सौंप देंगे। वैसे राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय परिषद के सदस्यों की सूची का अंतिम प्रकाशन रविवार को कर दिया गया। इसके साथ ही पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के निर्वाचन की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। पूरी संभावना है कि रिम्स में भर्ती लालू प्रसाद ही फिर से राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाएं। पर पार्टी का एक बड़ा तबका राबड़ी देवी या तेजस्वी में से किसी एक को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की वकालत कर रहा है। राष्ट्रीय सहायक निर्वाचन पदाधिकारी चितरंजन गगन ने बताया कि पार्टी के केंद्रीय कार्यालय दिल्ली, केंद्रीय कैंप कार्यालय, पटना एवं सभी राज्य इकाइयों के प्रदेश कार्यालयों में राष्ट्रीय परिषद के सदस्यों की सूची का अंतिम प्रकाशन हो गया है।

Also Read

-sponsored-

राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्यों के निर्वाचन को लेकर मंथन हुआ। प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह अपने कार्यालय कक्ष में देर शाम तक जमे रहे। वहीं राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद के कार्यालय कक्ष में राष्ट्रीय महासचिव भोला यादव, प्रदेश प्रधान महासचिव आलोक मेहता 10 को आयोजित किए जाने वाले राष्ट्रीय अधिवेशन की तैयारी को अंतिम रूप देने के लिए देर तक मंथन करते रहे।

चितरंजन गगन ने बताया कि 03 दिसंबर को पटना स्थित पार्टी के केंद्रीय कैंप कार्यालय में राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्यों के निर्वाचन के लिए नामांकन पत्र दाखिल किया जाएगा और उसी दिन नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी। प्रत्याशियों के नामों का प्रकाशन उसी दिन शाम 5 बजे किया जाएगा। 10 दिसंबर को बापू सभागार में नवगठित राष्ट्रीय परिषद की बैठक होगी, जिसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष और राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्यों का चुनाव किया जाएगा। उसी दिन पार्टी का खुला अधिवेशन भी होगा। इसके पहले 9 दिसंबर को पटना के मौर्या होटल में निवर्तमान राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक होगी, जिसमें राष्ट्रीय परिषद और महाधिवेशन में प्रस्तुत किए जाने वाले विभिन्न प्रस्तावों पर चर्चा होगी।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.