By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने राहुल गांधी के फैसले पर उठाया सवाल

सलमान खुर्कशीद ने कहा--हमारे नेता ही इस्तीफा देकर जिम्मेदारियों से भाग गए, हमें अकेला छोड़ दिया.

Above Post Content

- sponsored -

Below Featured Image

-sponsored-

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने राहुल गांधी के फैसले पर उठाया सवाल

सिटी पोस्ट लाइव :  लोकसभा चुनाव के बाद राहुल गांधी के कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिए जाने की बात कांग्रेस के नेताओं को आसानी से पच  नहीं रही. उन्हें लग रहा है कि उनके नेता ने हार के डर से मैदान छोड़ दिया है.गौरतलब है कि लोक सभा चुनाव में करारी शिकस्त मिलने के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा या दे दिया था. लाख मनाने के वावजूद भी जब वो नहीं माने तो फिर से सोनिया गांधी को कमान थामनी पडी थी.

राहुल गांधी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिए जाने के बाद राजनीतिक हलको में उनकी राजनीति को लेकर कई तरह के सवाल उठे. उन्हें अपरिपक्व और जिम्मेदारियों से भागने वाला नेता बताया गया.अब तो कांग्रेस के नेता भी ये मानने लगे हैं कि उनके नेता ने मैदान छोड़ दिया है. अब पार्टी के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने अब खुलकर अपना दुःख का इजहार कर दिया है.उन्होंने कहा है कि हमारी सबसे बड़ी समस्या यह है कि हमारे नेता ने ही मैदान छोड़ दिया. ‘ उन्होंने पार्टी की स्थिति पर चिंता जताते हुए कहा है कि लोकसभा चुनाव में हार के बाद राहुल गांधी के इस्तीफे से संकट बढ़ा है.

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

सलमान  खुर्शीद ने कहा कि राहुल गांधी के इस फैसले के कारण पार्टी हार के बाद जरूरी आत्म-निरीक्षण भी नहीं कर पाई. ‘हम विश्लेषण के लिए भी एकजुट नहीं हो सके कि हम लोकसभा चुनाव में क्यों हारे. हमारी सबसे बड़ी समस्या यही है कि हमारे नेता ने हमें मझधार में छोड़ दिया.पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा कि वो  नहीं चाहते थे कि राहुल गांधी इस्तीफा दें. उन्हें अपने पद पर बने रहना चाहिए था. कार्यकर्या भी यही चाहते थे कि राहुल गांधी अपने पद पर बने रहें और नेतृत्व करें.’ उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद से पार्टी में खालीपन जैसा है. सोनिया गांधी ने दखल दिया है, लेकिन साफ संदेश है कि वह एक अस्थायी व्यवस्था के तौर पर हैं.’

गौरतलब है कि यह पहला मौका है, जब कांग्रेस के किसी नेता ने राहुल गांधी के इस्तीफे को लेकर इस तरह का बयान दिया है.अबतक तो सत्ताधारी दल ही राहुल गांधी पर हमला करता था लेकिन अब तो कांग्रेस के नेता ही राहुल गांधी के फैसले पर सवाल उठाने लगे हैं.पार्टी के नेता ही सोनिया गाँधी के नेत्रित्व को स्वीकार करने के मूड में नहीं है. उन्हें सोनिया गांधी का नेत्रित्व एक अस्थाई व्यवस्था लगती है.

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.