By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

BJP-JDU के बीच सीट बंटवारे का फार्मूला, 52 विधयाकों की छीन सकती है सीट

Above Post Content

- sponsored -

बीजेपी के राष्ट्रिय अध्यक्ष अमित शाह लगातार तीसरी बार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेत्रित्व में चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुके हैं.जाहिर है बीजेपी हर हाल में नीतीश कुमार को साथ रखना चाहेगी

Below Featured Image

-sponsored-

BJP-JDU के बीच सीट बंटवारे का फार्मूला, 52 विधयाकों की छीन सकती है सीट

सिटी पोस्ट लाइव : बीजेपी के राष्ट्रिय अध्यक्ष अमित शाह लगातार तीसरी बार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेत्रित्व में चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुके हैं.जाहिर है बीजेपी हर हाल में नीतीश कुमार को साथ रखना चाहेगी. लेकिन जिस तरह से बीजेपी ने लोक सभा चुनाव में केवल दो सांसद वाली पार्टी JDU को 17 सीटें ( बराबर बराबर ) दे दी उसी आधार पर विधान सभा चुनाव में सीटों का बटवारा करने का दबाव JDU पर जरुर बनायेगी. सूत्रों के अनुसार BJP अपने साथ दुसरे छोटे दलों को भी लाना चाहती है.उके लिए भी उसे 20 से 30 सीटें बचाकर रखना होगा.

सूत्रों के अनुसार BJP चाहती है कि JDU भी उसके बराबर यानि 100 सीटों पर चुनाव लड़े .एलजेपी को वह 20 सीटें देना चाहती है और बाकी बची 23 सीटों को गठबंधन में आनेवाले दो दलों को देना चाहती है.सूत्र दावा कर रहे हैं कि वीआइपी पार्टी और हम पार्टी के सुप्रीमो बीजेपी के संपर्क में हैं. तेजस्वी यादव भाव नहीं दिए जाने से नाराज जीतन राम मांझी और मुकेश सहनी बीजेपी के साथ जा सकते हैं.सूत्रों का दावा है कि मुकेश सहनी उप-मुख्यमंत्री की कुर्सी महागठबंधन में उप-मुख्यमंत्री की कुर्सी चाहते हैं. अगर बात नहीं बनी तो वो बीजेपी के साथ जा सकते हैं.

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

सूत्रों का दावा है कि दोनों दलों (BJP JDU ) में लोकसभा चुनाव की तर्ज पर 50-50 (बराबर-बराबर) सीटों पर चुनाव लडऩे की सहमति बन सकती है.पिछले विधानसभा चुनाव में JDU और BJP अलग-अलग चुनाव लड़े थे, जबकि उससे पहले साल 2010 में दोनों पार्टियों ने मिलकर चुनाव लड़ा था. सूत्रों का दावा है कि 2020 के विधानसभा चुनाव के लिए सीट बंटवारे का फॉर्मूला लोकसभा चुनाव के फॉर्मूले पर आधारित हो सकता है. लोकसभा चुनाव में हुआ सीट शेयरिंग फॉर्मूला विधानासभा में भी सीटों के बंटवारे का आधार बन सकता है.

BJP –JDU के बीच लोकसभा की तर्ज पर सीटों का बंटवारा हुआ, तो इस बार 124 मौजूदा सीटों में से 52 विधानसभा क्षेत्रों में उम्मीदवारी में फेरबदल हो सकता है. पिछले चुनाव में JDU ने जहां 71 सीटों पर विजय प्राप्त की थी, वहीं BJP के प्रत्याशी 53 सीट पर विजय प्राप्त कर सके थे. ऐसे में देखा जाए तो 24 ऐसी सीटें हैं जहां BJP पहले और JDU दूसरे नंबर पर रही थी, जबकि 28 सीटें ऐसी हैं, जहां JDU पहले नंबर पर थी और वहां BJP दूसरे नंबर पर रही थी.ऐसे में तय है कि ऐसी कुछ सीटों पर उम्मीदवारों की बदली हो सकती है.

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.