By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

सोनिया गांधी ने विपक्ष के नेताओं के साथ की मीटिंग, मुकेश सहनी को नहीं मिला न्यौता

RLSP सुप्रीमो उपेन्द्र कुशवाहा और जीतन राम मांझी ने लिया बैठक में भाग, बिहार पर की चर्चा.

;

- sponsored -

कोरोना महामारी के बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज शाम तीन बजे से विपक्षी दल के नेताओं के साथ मीटिंग की.सोनिया गांधी ने RLSP के नेता उपेन्द्र कुशवाहा और  बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री,हम पार्टी के मुखिया  जीतन राम मांझी के साथ विडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिये मीटिंग की.इस मीटिंग में सोनिया गांधी ने शामिल होने के लिए महागठबंधन में शामिल राजद, हम, रालोसपा को भी न्योता दिया था.

-sponsored-

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : कोरोना महामारी के बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज शाम तीन बजे से विपक्षी दल के नेताओं के साथ मीटिंग की.सोनिया गांधी ने RLSP के नेता उपेन्द्र कुशवाहा और  बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री,हम पार्टी के मुखिया  जीतन राम मांझी के साथ विडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिये मीटिंग की.इस मीटिंग में सोनिया गांधी ने शामिल होने के लिए महागठबंधन में शामिल राजद, हम, रालोसपा को भी न्योता दिया था. लेकिन वीआइपी पार्टी के नेता मुकेश सहनी को आमंत्रित नहीं किया गया. सिटी पोस्ट लाइव ने जब मुकेश सहनी से इस सम्बन्ध में पूछा तो उनका कहना था कि उन्हें इस विडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के बारे में कोई जानकारी नहीं है.

कोरोना संकट से उपजे हालातों पर मोदी सरकार को घेरने के लिए विपक्षी दल एकजुट हो रहे हैं. देश के मौजूदा हालात को देखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी बैठक कर रही हैं. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सोनिया गांधी की अगुवाई में होने वाली इस बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, एनसीपी नेता शरद पवार, डीएमके नेता .इसके अलावा जनता दल (सेक्युलर) से एचडी देवगौड़ा शामिल हुए.

कांग्रेस द्वारा बुलाई गई विपक्षी दलों की बैठक के मुख्य एजेंडे में सरकार द्वारा कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए उठाए गए कदमों, प्रवासी मजदूरों की दुर्दशा, उनकी समस्याएं व सरकार द्वारा उनका सही तरह से निराकरण न कर पाना, मोदी सरकार के 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज की असलियत जैसे तमाम मुद्दों पर संयुक्त रणनीति पर चर्चा हुई.लेकिन सबसे बड़ा सवाल सोनिया गांधी ने वीआइपी पार्टी के नेता मुकेश सहनी को क्यों नजर-अंदाज किया.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.