By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

झारखंड भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा ने कहा “नया झारखंड बनाना है”

- sponsored -

झारखंड भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा ने कहा कि नया झारखंड बनाना है। राज्य में बेरोजगारी नहीं हो। आने वाले दिन में इस सपना को पूरा करेंगे।

Below Featured Image

-sponsored-

झारखंड भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा ने कहा “नया झारखंड बनाना है”

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: झारखंड भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा ने कहा कि नया झारखंड बनाना है। राज्य में बेरोजगारी नहीं हो। आने वाले दिन में इस सपना को पूरा करेंगे। गिलुवा सोमवार को प्रभात तारा मैदान में भाजपा की ओर से आयोजित मिलन समारोह में बोल रहे थे। मिलन समारोह में झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) का भाजपा में विलय हुआ। गिलुवा ने कहा कि भाजपा के कार्यकर्ता नये झारखंड के सपने को साकार करेंगे। पिछले दिनों झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिले में सात लोगों की नृशंस हत्या कर दी गयी, लेकिन सरकार ने अभी तक इस मामले में कोई कठोर कदम नहीं उठाया है। उन्होंने कहा कि इस घटना की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) से करायी जाये।

मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह भाजपा को आगे बढ़ा रहे हैं। उन्हें झारखंड से काफी लगाव है। आज झाविमो का भाजपा में विलय हो रहा है। झाविमो अध्यक्ष बाबूलाल पार्टी सहित भाजपा में शामिल हो रहे हैं। यह बड़े हर्ष की बात है। पूर्व प्रधानमंत्री स्व अटल बिहारी वाजपेयी ने झारखंड अलग राज्य बनाया था। भाजपा ने पहला मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी को बनाया था। इनके नेतृत्व में झारखंड का विकास शुरू हुआ। इस बीच निजी कारणों से वह अलग हुए और आज घर वापसी कर रहे हैं।

Also Read

-sponsored-

उन्होंने कहा कि बाबूलाल के पार्टी में आने से भाजपा मजबूत होगी और नई उंचाईयों को छूएगी। मरांडी ने उग्रवाद के खिलाफ लड़ाई शुरू की। इस दौरान उनके पुत्र की भी मौत हुई। 2019 के विधानसभा चुनाव में हमे सफलता नहीं मिली, हम जनादेश का सम्मान करते हैं। हमे विपक्ष में बैठने का तर्जुबा है। उन्होंने कहा कि 2014 में वह मुख्यमंत्री बने। इस दौरान केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने का प्रयास किया। हमने पांच साल बेदाग सरकार दिया। बिचौलियों को बाहर का रास्ता दिखाया। उन्होंने कहा कि झारखंड में नई सरकार बनने के बाद हेमंत सोरेन बदले की भावना से कार्य कर रहे हैं। जनहित योजनाओं को बंद कर रही है। साथ ही पिछली सरकार को बदनाम करने का प्रयास कर रही है। लेकिन उन्हें इस कार्य में सफलता नहीं मिलेगी। चाईबासा नरसंहार मामले में सरकार कुछ नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्यहित, जनहित के मुद्दे पर हम सरकार के साथ हैं। लेकिन जनहित विरोधी मुद्दों का हम विरोध करेंगे।

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.