By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

प्रशांत किशोर के सहारे तेजस्वी यादव की घेराबंदी की बन रही है दिल्ली में रणनीति?

- sponsored -

देश के जानेमाने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने महागठबंधन के घटक दलों से संपर्क नहीं साधा है बल्कि महागठबंधन के घटक दल वीआइपी पार्टी के नेता मुकेश सहनी ने प्रशांत किशोर को महागठबंधन से जोड़ने की पहल शुरू की है.

Below Featured Image

-sponsored-

प्रशांत किशोर के सहारे तेजस्वी यादव की घेराबंदी की बन रही है दिल्ली में रणनीति?

सिटी पोस्ट लाइव : देश के जानेमाने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने महागठबंधन के घटक दलों से संपर्क नहीं साधा है बल्कि महागठबंधन के घटक दल वीआइपी पार्टी के नेता मुकेश सहनी ने प्रशांत किशोर को महागठबंधन से जोड़ने की पहल शुरू की है. मुकेश सहनी की पहल पर ही महागठबंधन के  घटक दलों के नेता जीतन राम मांझी और उपेन्द्र कुशवाहा प्रशांत किशोर से मिलने दिल्ली पहुंचे हैं. मुकेश सहनी, उपेन्द्र कुशवाहा और जीतन राम मांझी अलग अलग और एकसाथ प्रशांत किशोर के साथ मिल चुके हैं.

वीआइपी पार्टी के सूत्रों के अनुसार प्रशांत किशोर को मुकेश सहनी दिल्ली में रणनीति के लिए तैयार करने में एक हदतक सफल हो चुके हैं. हालांकि प्रशांत किशोर ने अभीतक न तो नो नहीं कहा है और ना ही हाँ  उनके समर्थन और सहयोग की उम्मीद महागठबंधन के घटक दलों के नेता लगाए बैठे हैं.गौरतलब है कि प्रशांत किशोर के साथ होनेवाली इस बातचीत से कांग्रेस पार्टी अबतक बाहर है.दरअसल, तेजस्वी यादव घटक दलों के द्वारा ज्यादा से ज्यादा सीटें मांगे जाने से नाराज हैं और उन्हें लगातार अंजर-अंदाज कर रहे हैं.प्रशांत किशोर के सहारे घटक दल गोलबंद होकर तेजस्वी यादव पर दबाव बनाने की कोशिश में हैं.

Also Read

-sponsored-

लेकिन मुकेश सहनी, जीतन राम मांझी और उपेन्द्र कुशवाहा की परेशानी ये है कि कांग्रेस पार्टी अभीतक खुलकर कुछ नहीं बोल रही है.दरअसल, कांग्रेस पार्टी की नजर एक राज्य सभा सीट पर है इसलिए चुनाव से पहले वह तेजस्वी यादव को नाराज नहीं करना चाहती.अगर तेजस्वी यादव ईन घटक दलों से नाराज हो जाते हैं तो भी सबसे ज्यासा फायदे में कांग्रेस पार्टी ही रहेगी .कांग्रेस की इस रणनीति की वजह से बाकी घटक दल के नेता परेशान हैं.वो प्रशांत किशोर के जरिये कांग्रेस को साथ लेकर RJD पर दबाव बनाने की रणनीति पर काम कर रहे हैं.सूत्रों के अनुसार प्रशांत किशोर से पॉजिटिव रिस्पांस मिने के बाद मुकेश सहनी, उपेन्द्र कुशवाहा और जीतन मांझी शरद यादव से विचार विमर्श अभी कर रहे हैं.

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.