By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बंगले के लिए तेजप्रताप ने लगाई CM से गुहार, अपने लोगों को चुनाव लड़ाने की कर रहे तैयारी

Above Post Content

- sponsored -

लेकिन उनकी अर्जी पर भवन निर्माण विभाग कारवाई नहीं कर रहा. वो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से लेकर विधान सभा अध्यक्ष से भी बातचीत करने की कोशिश कर चुके हैं. लेकिन कोई बातचीत करने को तैयार ही नहीं.

Below Featured Image

-sponsored-

बंगले के लिए तेजप्रताप ने लगाई CM से गुहार, अपने लोगों को चुनाव लड़ाने की कर रहे तैयारी

सिटी पोस्ट लाइव : आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने पटना नहीं लौटने का राज आज सिटी पोस्ट लाइव के सामने खोल दिया है. दरअसल, तेजप्रताप द्वारा अपनी पत्नी ऐश्वर्या से तलाक लेने की अर्जी कोर्ट में दिए जाने के वावजूद ऐश्वर्या राय उनके घर में उनकी माता राबडी देबी के साथ रह रही हैं. ऐश्वर्या की वजह से तेजप्रताप यादव घर जाने को तैयार नहीं हैं. वो अपने लिए सरकारी आवास आवंटित किये जाने का इंतज़ार कर रहे हैं. तेजप्रताप यादव का आरोप है कि डेढ़ महीना पहले वो अपने लिए आवास आवंटित किये जाने की अर्जी दे चुके हैं. लेकिन उनकी अर्जी पर भवन निर्माण विभाग कारवाई नहीं कर रहा. वो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से लेकर विधान सभा अध्यक्ष से भी बातचीत करने की कोशिश कर चुके हैं. लेकिन कोई बातचीत करने को तैयार ही नहीं.

भवन आवास मंत्री महेश्वर हजारी से तेजप्रताप यादव की बात हो चुकी है. लेकिन वो आवास अवांटित नहीं किये जाने के लिए अपने विभाग के प्रधान सचिव चंचल कुमार को जिम्मेवार ठहरा चुके हैं. तेजप्रताप यादव का कहना है कि महेश्वर हजारी ने उनसे कहा कि चंचल कुमार उन्हें आवास अवांटित नहीं कर रहे हैं.तेजप्रताप यादव ने कहा कि उनसे मिलाने सैकड़ों हजारों की संख्या में कार्यकर्त्ता आते रहते हैं. आवास नहीं मिलने की वजह से वो भागे फिर रहे हैं.

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

तेजप्रताप यादव अपने छोटे भाई तेजस्वी को अर्जुन बता रहे हैं. अपनी राजनीति का मकसद भी वो तेजस्वी को सत्ता पर काबिज करना बता रहे हैं. लेकिन वो पार्टी अपने हिसाब से चलाना चाहते हैं. अपने साथ दुःख सुख की घड़ी में खड़े रह्नेव्ले कार्यकर्ताओं को पार्टी में अहम् भूमिका दिलाना चाहते हैं. उन्हें चुनाव लड़ाना चाहते हैं. तेजप्रताप यादव ने सिटी पोस्ट लाइव से खास बातचीत में कहा कि वो अपने लोगों को राजनीति में लाने के लिए और उन्हें चुनाव लड़ाने के लिए जरुरत पडी तो पार्टी से लड़ाई भी लड़ेगें. तेजप्रताप यादव ने कहा कि पार्टी में टिकेट बांटना लालू यादव का काम है. वहीँ तय करेगें किसे चुनाव लादना है और किसे नहीं लड़ना है. लेकिन अपने लोगों को चुनाव लड़ाने के लिए वो जरुर संघर्ष करेगें.

गौरतलब है कि तेजप्रताप यादव  फिलहाल पटना में नहीं हैं. कहां हैं अभी तक इसकी पुख्ता जानकारी नहीं है. हालांकि कयास ये लगाए जा रहे हैं कि वे फिर उत्तर प्रदेश के किसी धार्मिक शहर में  हैं. एक दिन पहले ही उन्होंने सोशल मीडिया में बाबा रामदेव के साथ अपनी तस्वीर पोस्ट की थी.बताया जा रहा है कि घर से दूर रह रहे तेजप्रताप अब पटना तभी वापस लौटेंगे जब उन्हें नया बंगला एलॉट किया जाएगा.

गौरतलब है  कि नवंबर के आखिरी हफ्ते में तेजप्रताप यादव पटना पहुंचे थे. उन्होंने विधानसभा के शीतकालीन सत्र में अपनी हाजिरी लगाई और तलाक की अर्जी की सुनवाई में भी हाजिर हुए. हालांकि वे इस दौरान अपने घर नहीं गए. उनके करीबियों की मानें तो लालू प्रसाद के बेटे तेजप्रताप अपनी  मां राबड़ी देवी के साथ नहीं रहना चाहते हैं, जहाँ उनकी पत्नी ऐश्वर्या राय रह रही हैं. वह एक अलग बंगले की मांग कर रहे हैं लेकिन उन्हें बंगला दे नहीं रही..

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.