By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

तेजस्वी ने बड़े भाई को दिया तगड़ा जवाब, बोले- लालू जी का व्यक्तित्व बड़ा, कोई नहीं बना सकता बंधक

HTML Code here
;

- sponsored -

लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने कल छात्र जनशक्ति परिषद के कार्यक्रम में यह आरोप लगाया था कि लालू प्रसाद को दिल्ली में बंधक बना लिया गया है, पटना आने नहीं दिया जा रहा है। वहीं पटना पहुंचते ही तेजस्वी यादव ने इन आरोपों का तगड़ा जवाब दिया है। तेजस्वी यादव ने कहा कि लालू जी को कोई बंधक नहीं बना सकता। उनका व्यक्तित्व काफी बड़ा है।

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने कल छात्र जनशक्ति परिषद के कार्यक्रम में यह आरोप लगाया था कि लालू प्रसाद को दिल्ली में बंधक बना लिया गया है, पटना आने नहीं दिया जा रहा है। वहीं पटना पहुंचते ही तेजस्वी यादव ने इन आरोपों का तगड़ा जवाब दिया है। तेजस्वी यादव ने कहा कि लालू जी को कोई बंधक नहीं बना सकता। उनका व्यक्तित्व काफी बड़ा है।

तेजस्वी यादव ने पटना आने पर कहा कि लालू प्रसाद यादव ने कई ऐसे कार्य किए हैं जिससे देश और बिहार के लोग उन्हें पहचानते हैं। लालू प्रसाद यादव लंबे समय तक मुख्यमंत्री और रेल मंत्री रहे। उन्होंने देश में दो प्रधानमंत्री बनाएं। लालू प्रसाद ने आडवाणी जी को गिरफ्तार करवाया था। लालू प्रसाद को बंधक बनाने की बात उनके व्यक्तित्व से नहीं मिलती है।

तेजस्वी यादव से जब पत्रकारों ने पूछा कि क्या तेजप्रताप यादव पार्टी और परिवार से नाराज चल रहे हैं। वह अपनी पीड़ा का बयां कर रहे हैं? इस सवाल पर तेजस्वी ने कोई प्रतिक्रिया तो नहीं दी। वे इतना ही कहते रहे की जो बातें कही जा रही है, वह लालू प्रसाद यादव के व्यक्तित्व से कतई मेल नहीं खाती।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

बता दें कि शनिवार को तेज प्रताप यादव ने अपने छात्र संगठन की बैठक को संबोधित करते हुए खुले मंच से तेजस्वी और उनके करीबियों पर हमला बोला था। तेज प्रताप ने कहा था कि पिताजी हमारे अस्वस्थ चल रहे हैं. हम कोई प्रेशर नहीं देना चाहते हैं। बीमारी से जूझ रहे हैं। कुछ लोग राष्ट्रीय जनता दल में राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने का सपना देख रहे हैं। 4-5 लोग हैं, सब जानता है, नाम लेने का कोई मतलब नहीं है।

बता दें कि तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव के बीच इन दिनों खटपट चल रहा है। पोस्टरों के जरिए भी दोनों भाईयों के बीच की ‘लड़ाई’ समय-समय पर सामने आती रही है। तेजप्रताप यादव ने आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह को हिटलर कहा था। इस प्रकरण के बाद तेजस्वी यादव ने बड़े भाई का साथ छोड़ प्रदेश अध्यक्ष का साथ दिया था। इसके बाद से दोनों भाईयों के बीच की दूरियां और भी ज्यादा बढ़ गयी हैं। इशारों-इशारों में दोनों ही भाई एक दूसरे पर हमला बोलने का मौका नहीं छोड़ते ।

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.