By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

आरजेडी में थमा घमासान, रघुवंश प्रसाद सिंह की चिट्ठी को तेजस्वी ने बताया शुभ संकेत

;

- sponsored -

दो दिनों से आरजेडी के अंदरखाने से जिस महाघमासान की खबरें आ रही है वो अब थमता नजर आ रहा है। रघुवंश प्रसाद सिंह ने जिस तरह से लेटर बम फोड़कर अपनी हीं पार्टी की कार्यशैली पर सवाल उठाए थे उसके बाद राजद में भूचाल था और पार्टी लगातार डैमेज कंट्रोल में जुटी हुई थी।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

आरजेडी में थमा घमासान, रघुवंश प्रसाद सिंह की चिट्ठी को तेजस्वी ने बताया शुभ संकेत

सिटी पोस्ट लाइवः दो दिनों से आरजेडी के अंदरखाने से जिस महाघमासान की खबरें आ रही है वो अब थमता नजर आ रहा है। रघुवंश प्रसाद सिंह ने जिस तरह से लेटर बम फोड़कर अपनी हीं पार्टी की कार्यशैली पर सवाल उठाए थे उसके बाद राजद में भूचाल था और पार्टी लगातार डैमेज कंट्रोल में जुटी हुई थी। अब तेजस्वी ने एक बयान देकर इस पूरे विवाद को खत्म करने की कोशिश की है। उन्होंने कहा यह अच्छी बात है कि रघुवंश प्रसाद सिंह ने चिट्ठी लिखी। पार्टी के लिए यह शुभ संकेत है। पार्टी के अंदर लोकतंत्र जिंदा है इसका सबूत भी है। पार्टी में मोरल बूस्टअप करने वालों की भी जरुरत होती है। उन्होनें हमें पार्टी में सुधार का रास्ता दिखाया है।

तेजस्वी ने कहा कि पार्टी में कम्यूनिकेशन गैप की कोई बात ही नहीं है।वहीं आरजेडी उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने साफ कर दिया है कि आरजेडी के दो पाले में बंटने की बात बिल्कुल निराधार है। मैनें लालू प्रसाद को लिखे लेटर के जरिए पार्टी को सावधान और सजग किया है न की किसी को टारगेट किया है।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि मैनें जगदानंद सिंह की मदद की है। उन्होनें कहा कि जो बात नहीं बोल सके वो बात मैनें राष्ट्रीय अध्यक्ष के सामने लेटर के जरिए रखी हैं। रघुवंश प्रसाद सिंह ने ये भी कहा कि मैनें पार्टी के संघर्ष का प्रारुप पार्टी अध्यक्ष के सामने रखा है। निर्णायक संघर्ष की बात की है। इसमें मैनें किसी की आलोचना नहीं की है।रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि हमलोग लड़ने वाले सिपाही हैं। पार्टी के अंदर क्यों सुस्ती है वे पद पर बैठे लोग बताएंगे।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.