By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

देश दुनिया की 10 बड़ी खबरें-लूटेरी पुलिस,पटना में उपराष्ट्रपति, सृजन घोटाला

- sponsored -

-sponsored-

देश दुनिया की 10 बड़ी खबरें-लूटेरी पुलिस,पटना में उपराष्ट्रपति, सृजन घोटाला

1.

राजधानी पटना के नौबतपुर में 18 लाख के सिक्के लूट कांड में बड़ा खुलासा हुआ है. पटना पुलिस ने लूट कांड शामिल 5 लुटेरों को गिरफ्तार किया और जब उनसे पूछताछ की तो उनके द्वारा चौकाने वाला खुलासा हुआ. उनकी निशानदेही पर लूट के 2 लाख के सिक्के भी बरामद किये गए है. गिरफ्तार  लुटेरों ने पटना पुलिस को बताया कि  16-17 जुलाई को काण्ड को अंजाम देकर जब वो भाग रहे थे तो उनको बेउर थाने की नाईट पेट्रोलिग गाड़ी द्वारा उन्हें पकड़ लिया गया और उन्हें थाने ले जाया गया. जहां 1.5 लाख रुपये लेकर थानाध्यक्ष ने सभी को छोड़ दिया था.मामले का खुलासा होने के बाद बेउर थानाध्यक्ष प्रवेश भारती, दरोगा सुनील चौधरी, विनोद कुमार और होम गार्ड के दो जवान समेत पांच पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया गया है.

Also Read

-sponsored-

2.

बिहार के नए राज्यपाल फागू चौहान 10 वीं कक्षा पास हैं. उनकी नियुक्ति से संबंधित अधिसूचना राष्ट्रपति भवन ने शनिवार को जारी की है. वे मऊ जिले की घोसी विधानसभा सीट से छह बार विधायक बन चुके हैं. वे उत्तर प्रदेश भाजपा के पिछड़ा वर्ग के बड़े नेता माने जाते हैं. 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में उन्होंने घोसी से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा और अपने करीबी उम्मीदवार बीएसपी के अब्बास अंसारी को हराया.फागू चौहान का जन्म 1948 में उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले के शेखपुरा हुआ था. वह पिछड़ी जाति चौहान समुदाय से आते हैं. 1985 में पहली बार दलित किसान मजदूर पार्टी से घोसी विधानसभा से विधायक बने थे.

3.

सृजन घोटाले में सीबीआई ने 7 अभियुक्तों के खिलाफ गैर जमानती वारंट पानी में सफलता प्राप्त कर ली है. करोड़ों रुपए के हुए सृजन घोटाले में कई मामले लंबित हैं. उसमें से एक मामले में सीबीआई ने 7 अभियुक्तों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करने का विशेष अदालत से रिक्वेस्ट किया था.सीबीआई के विशेष जज अजय कुमार श्रीवास्तव ने सीबीआई के अनुरोध पर 7 अभियुक्तों के  खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया है. जिन 7 अभियुक्तों को खिलाफ वारंट जारी हुआ है उसमें भागलपुर के तत्कालीन डीडीसी प्रभात कुमार सिन्हा,  बैंक ऑफ इंडिया के शाखा प्रबंधक नवीन कुमार साह, सहायक प्रबंधक सुब्रत दास, बैंक ऑफ बड़ौदा के सहायक प्रबंधक संत कुमार सिन्हा और बैंक पदाधिकारी अमरेंद्र कुमार शामिल हैं. सृजन घोटाला के इन अभियुक्तों पर आरोप है कि ये षड्यंत्र और पद का दुरुपयोग करके बड़े पैमाने पर सरकार की धनराशि को गलत ढंग से सजन के खाते में स्थानांतरित कर उसका बंदरबांट किया।

4.

4 अगस्त को उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू बिहार आयेंगे.वो  पीयू समेत कई कार्यक्रम में करेंगे शिरकत करेगें. उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू 4 अगस्त को बिहार दौरे पर आयेंगे. वे पटना विश्वविद्यालय के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पटना आएंगे.एयरपोर्ट पर सुबह 11:00 बजे उतरने के बाद वे सीधे पटना विश्वविद्यालय स्थित लाइब्रेरी भवन पहुंचेंगे. वहां पांडुलिपियों का निरीक्षण करने के बाद सीनेट हॉल में आयोजित कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं से बातचीत करेंगे.उपराष्ट्रपति राजभवन में  दोपहर का लंच करेंगे. राजभवन में लंच करने के बाद उपराष्ट्रपति  3:00 बजे अधिवेशन भवन में आयोजित कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगे.गौरतलब है कि गर्दनीबाग हाई स्कूल के 100 वर्ष पूरे होने पर शताब्दी समारोह का आयोजन अधिवेशन भवन में हो रहा है. इस कार्यक्रम का भी उद्घाटन उपराष्ट्रपति  वेंकैया नायडू ही करेंगे.

5.

ईरान ने जिस ब्रितानी तेल टैंकर को ज़ब्त किया है उसके चालक दल के 23 सदस्यों में 18 भारत के हैं.भारतीय नागरिकों से जुड़े एक प्रश्न के जवाब में भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार का कहना है कि सरकार  घटनाक्रम के बारे में और जानकारियां इकट्ठा कर रही है. भारतीय नागरिकों की जल्द रिहाई सुनिश्चित करने और उन्हें वापस देश लाने के लिए सरकारी मिशन ईरानी सरकार के संपर्क में है.”ईरान ने शुक्रवार को स्टेला इम्पेरो नाम के ब्रितानी तेल टैंकर को ज़ब्त कर लिया था. ईरान का कहना है कि इस टैंकर को एक ईरानी नौका से टकराने के बाद ज़ब्त किया गया है.वहीं ब्रिटेन ने कहा है कि अगर ईरान ने तेल टैंकर को तुरंत नहीं छोड़ा तो इसके गंभीर परीणाम होंगे. इसी बीच ब्रिटेन ने अपने जहाज़ो से कुछ समय के लिए होरमुज़ की खाड़ी से दूर रहने के लिए भी कहा है.तेल टैंकर पकड़े जाने की इस घटना के बाद मध्य-पूर्व में तनाव बढ़ा हुआ है. इससे पहले ब्रिटेन ने एक ईरानी जहाज़ को ज़िब्राल्टर में पकड़ लिया था. इस तेल टैंकर पर यूरोपीय नियमों का उल्लंघन करके सीरिया के लिए कच्चा तेल ले जाने के आरोप लगाए गए हैं.

6.

भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि कश्मीर के मुद्दे को जल्द ही सुलझा लिया जाएगा. भारत प्रशासित जम्मू-कश्मीर के कठुआ ज़िले की उझ नदी पर बने एक पुल का उद्घाटन करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, “कश्मीर समस्या का हल जल्दी होने वाला है.”उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर को चरमपंथ से भी निजात मिल जाएगी. पिछली सरकार में गृहमंत्री रहे राजनाथ सिंह ने कहा कि उन्होंने सभी पक्षों से वार्ता करने के कई प्रयास किए हैं ताकि दशकों से चली आ रहे इस विवाद को निपटाया जा सके.

7.

बर्धमान रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर बटुकेश्वर डट किया जाएगा.केंद्रीय गृहराज्य मंत्री नित्यानंद राय ने शनिवार को कहा कि केंद्र सरकार बर्धमान रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर बंगाल के क्रांतिकारी बटुकेश्वर दत्त के नाम पर करने का फ़ैसला किया है.मंत्री ने कहा कि इसके लिए जल्द ही केंद्र सरकार आदेश जारी करेगी.बटुकेश्वर दत्त की 54वीं पुण्यतिथि पर नित्यानंद राय ने पटना में उन्हें श्रद्धांजलि देने के बाद यह ऐलान किया.बटुकेश्वर दत्त का जन्म पश्चिम बंगाल के बर्धमान में हुआ था. साल 1929 में उन्होंने भगत सिंह के साथ सेंट्रल असेंबली में बम फेंके थे. आज़ादी के बाद वो अपने परिवार के साथ पटना आकर रहने लगे थे.

8.

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने वेस्टइंडीज दौरे से ख़ुद को अलग रखा है और सीरीज़ के लिए खुद को “अनुपलब्ध” बनाया है.रविवार को टीम के चयन के लिए होने वाली बैठक से पहले उन्होंने बीसीसीआई को यह जानकारी दी.धोनी ने बीसीसीआई से कहा है कि वो अपनी अर्धसैनिक रेजिमेंट की सेवा के लिए खेल से दो महीने का विश्राम लेंगे.समाचार एजेंसियों के अनुसार बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी इस बात की पुष्टि की है.

9.

ब्रिटेन से मिस्र की सभी उड़ानों को रद्द कर दिया गया है.ब्रिटिश एयरवेज ने सात दिनों के लिए मिस्र की राजधानी काहिरा जाने वाली सभी उड़ानों को रद्द कर दिया है.इसके पीछे सुरक्षा संबंधी कारण बताए जा रहे हैं. एक बयान जारी करते हुए एयरलाइन ने कहा कि यह फैसला एहतियातन किया गया है ताकि वहां पर सुरक्षा व्यवस्था का आकलन किया जा सके.साथ ही एयरलाइन दुनियाभर में सभी हवाई अड्डों पर भी सुरक्षा इंतज़ामों की समीक्षा कर रही है. उड़ाने रद्द करने के पीछे कोई कारण नहीं बताया गया है.

10.

एन. चंद्रबाबू नायडू सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना, आंध्र प्रदेश की राजधानी अमरावती के विकास पर संकट के बादल घिर गए हैं. भारत सरकार ने प्रस्तावित अमरावती परियोजना में वित्तीय मदद के अपने आवेदन को वापस ले लिया है.राज्य सरकार ने क़र्ज़ के लिए विश्व बैंक से संपर्क किया था. आंध्र प्रदेश कैपिटल रीजन डेवलपमेंट आथॉरिटी ने 2016 में विश्व बैंक को इस संबंध में एक आवेदन भेजा था.विश्व बैंक ने 30 करोड़ डॉलर देने का वादा किया था जबकि बाकी का फ़ंड एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर बैंक से मिलना था.इस परियोजना की कुल लागत का अनुमान क़रीब 71.5 करोड़ डॉलर है.लेकिन गुरुवार को विश्व बैंक की वेबसाइट पर अमरावती सस्टनेबल इन्फ़्रास्ट्रक्चर एंड इंस्टिट्यूशनल डेवलपमेंट प्रोजेक्ट का स्टेटस ‘रद्द’ दिखा.हालांकि आंध्र प्रदेश सरकार के उच्च अधिकारियों ने विश्व बैंक की ओर ऐसी किसी सूचना से इनकार किया है. आंध्र प्रदेश की सरकार का कहना है किया उसे नहीं पता कि भारत सरकार ने अपना आवेदन वापस ले लिया है. लेकिन भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के अनुसार “विश्व बैंक बहुत बाधाएं पैदा कर रहा था इसलिए भारत ने अपनी तरफ़ से आवेदन वापस ले लिया.”

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.