By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

एक रूपये में रजिस्ट्री योजना को बंद करना दुर्भाग्यपूर्ण : भाजपा

Above Post Content

- sponsored -

झारखंड भाजपा ने कहा है कि हेमंत सरकार महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए चल रही एक रूपये में रजिस्ट्री योजना को बंद करने जा रही है, जो कि दुर्भाग्यपूर्ण है।

Below Featured Image

-sponsored-

एक रूपये में रजिस्ट्री योजना को बंद करना दुर्भाग्यपूर्ण : भाजपा

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: झारखंड भाजपा ने कहा है कि हेमंत सरकार महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए चल रही एक रूपये में रजिस्ट्री योजना को बंद करने जा रही है, जो कि दुर्भाग्यपूर्ण है। भाजपा की प्रदेश उपाध्यक्ष प्रिया सिंह पटेल ने गुरूवार को कहा कि विभिन्न समाचार पत्रों के माध्यम से यह खबर आयी है।

उन्होंने बताया कि एक रुपये में रजिस्ट्री योजना एक सरकारी कार्यक्रम नहीं, बल्कि एक सामाजिक अभियान था, जिससे महिलाओं के साथ-साथ एक परिवार भी सशक्त एवं स्वालंबी बन रहा था। उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार का ऐसे कार्यक्रम को बंद करना उनकी द्वेषपूर्ण मानसिकता को साफ दर्शाता है। पटेल ने कहा कि एक रुपये में जमीन, मकान की रजिस्ट्री ने आज महिलाओं को संपत्ति की मालकिन बनाया। यही कारण है कि पिछले पांच वर्षों में 80 फीसदी रजिस्ट्री महिलाओं के नाम पर हुई थी, लेकिन हेमंत सरकार सबकुछ जानते हुए भी सिर्फ भाजपा से उनके द्वेष के कारण ऐसी कल्याणकारी योजनाओं को बंद करने जा रही है।

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

उन्होंने कहा कि अपने घर का सपना लेकर जीने वाली महिलाओं के लिए एक रुपये में रजिस्ट्री योजना एक वरदान बन चुकी थी। जिसने अपना घर देकर महिलाओं को मकान का मालकिन बनाया, जिससे महिलाएं स्वालंबी बनीं, लेकिन हेमंत सोरेन को महिलाओं के सशक्तीकरण  से कोई वास्ता नहीं है। यही कारण है कि उन्होंने अपने पिछली सरकार में लक्ष्मी लाडली योजना बंद की थी। इस सरकार के आते ही उन्होंने पहला निशाना महिलाओं की ऐसी योजना पर डाला, जिससे महिलाएं सबसे ज्यादा सशक्त और स्वालंबी बनी थी। उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार को स्पष्ट करना चाहिए कि आखिर राज्य की महिलाओं के लिए इस तरीके से अहितकारी कदम उठाने के पीछे उनकी मंशा क्या है।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.