By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बच्चा चोर की अफवाह में भाजपा नेता को ग्रामीणों ने घेरा, एक को बुरी तरह से पीटा

पार्टी की प्राथमिक सदस्यता पहले ही रद्द हो चुकी हैः भाजपा

Above Post Content

- sponsored -

रामगढ़ जिले के मनुआ फुलसराय गांव में बच्चा चोर के अफवाह में भाजपा नेता की गाड़ी को ही ग्रामीणों ने घेर लिया। बुधवार देर रात हुई इस घटना में ग्रामीणों का आक्रोश इतना अधिक था की वह कार पर सवार सभी 5 लोगों की पिटाई करने वाले थे।

Below Featured Image

-sponsored-

बच्चा चोर की अफवाह में भाजपा नेता को ग्रामीणों ने घेरा, एक को बुरी तरह से पीटा
सिटी पोस्ट लाइव, रामगढ़: रामगढ़ जिले के मनुआ फुलसराय गांव में बच्चा चोर के अफवाह में भाजपा नेता की गाड़ी को ही ग्रामीणों ने घेर लिया। बुधवार देर रात हुई इस घटना में ग्रामीणों का आक्रोश इतना अधिक था की वह कार पर सवार सभी 5 लोगों की पिटाई करने वाले थे। हालांकि ग्रामीणों की भीड़ से बचकर 4 लोग फरार हो गए। एक व्यक्ति भीड़ के हत्थे चढ़ गया। भीड़ ने उसकी पिटाई कर दी। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और उस युवक की जान बचाई। घटना की पुष्टि करते हुए गिद्दी थाना प्रभारी सुदामा राम ने बताया कि जिस युवक को बचाया गया है उसकी पहचान रामगढ़ जिले के बिंझार गांव निवासी आशीष गुप्ता के रूप में की गई है। थाना प्रभारी ने बताया कि फुलसराय निवासी अलीम अंसारी, किस्टो बेदिया और राजा मियां ने थाने में लिखित शिकायत की है। उन्होंने कहा कि भाजपा की बोर्ड लगी मारुति स्विफ्ट पिछले एक सप्ताह से रात में संदिग्ध अवस्था में गांव में घूमती रहती थी। बुधवार रात इसपर सवार लोगों ने उन तीनों के घरों के दरवाजे को तोड़ने की कोशिश की और जबरदस्ती घर में घुसने का भी प्रयास किया। काफी शोरगुल होने पर ग्रामीण वहां जुटे और इन लोगों को भागते हुए घेरा। ग्रामीणों के डर से चार लोग भाग गए लेकिन एक व्यक्ति पकड़ा गया। जिसकी बुरी तरीके से पिटाई कर दी गई। ग्रामीणों ने आक्रोश में कार को भी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया। पुलिस मामले में जांच कर रही है। पुलिस के अनुसार यह कार भाजपा नेता बिंझार निवासी रंजीत सिंह की है। ग्रामीणों ने यह भी बताया है कि यह कार अक्सर किराए पर भी चला करती है। पुलिस इस पूरे मामले में इस बिंदु पर भी जांच पड़ताल कर रही है।  इधर, भाजपा के रामगढ़ जिला अध्यक्ष चंद्रशेखर चौधरी ने बताया कि रंजीत सिंह को एक साल पहले लोकसभा चुनाव से पूर्व रामगढ़ के वार्ड नंबर 1 का अध्यक्ष बनाया गया था। इनके खिलाफ काफी शिकायतें थीं। इन शिकायतों में अवैध वसूली की भी शिकायत शामिल हैं। इस आधार पर रंजीत सिंह को पद से हटाते हुए उनकी प्राथमिक सदस्यता भी रद्द कर दी गई थी। उनकी गाड़ी पर भाजपा का बोर्ड भी अगर लगा है तो वह गलत है। इस मामले में पुलिस कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र है।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.