By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

दुमका और बेरमो विधानसभा उपचुनाव के लिए तीन नवंबर को मतदान

;

- sponsored -

भारत निर्वाचन आयोग ने झारखंड के दुमका और बेरमो विधानसभा उपचुनाव के लिए मंगलवार को चुनाव कार्यक्रमों की घोषणा कर दी है।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: भारत निर्वाचन आयोग ने झारखंड के दुमका और बेरमो विधानसभा उपचुनाव के लिए मंगलवार को चुनाव कार्यक्रमों की घोषणा कर दी है। दोनों सीटों के लिए तीन नवंबर को मतदान होगा, जबकि 10 नवंबर को मतगणना होगी। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा  जारी चुनाव कार्यक्रमों के अनुसार नौ अक्टूबर को बेरमो और दुमका विधानसभा उपचुनाव के साथ ही देश के विभिन्न राज्यों की 54 विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव संपन्न होंगे। 9 अक्टूबर को उपचुनाव को लेकर अधिसूचना जारी होगी और 16 अक्टूबर तक नामांकन दाखिल किये जा सकेंगे। 17 अक्टूबर को नामांकन पत्रों की जांच होगी और 19 अक्टूबर तक नामांकन पत्र वापस लिए जा सकेंगे। इन दोनों सीटों के लिए 3 नवंबर को मतदान के बाद 10 नवंबर को मतगणना होगी। चुनाव आयोग द्वारा जारी आदेश में बताया गया है कि उपचुनाव के लिए पर्याप्त संख्या में ईवीएम और वीवीपैट की व्यवस्था कर ली गयी है।मतदाता अपने 11 पहचान पत्रों का उपयोग मतदान के लिए कर सकेंगे।

गौरतलब है कि दुमका विधानसभा उपचुनाव झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) के कार्यकारी अध्यक्ष सह मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा इस्तीफा देने के कारण हो रहा है। हेमंत सोरेन ने वर्ष 2019 के विधानसभा चुनाव में दुमका के अलावा साहेबगंज जिले के बरहेट विधानसभा उपचुनाव में जीत दर्ज की थी, लेकिन बाद में संवैधानिक बाध्यता के कारण उन्होंने दुमका सीट से त्यागपत्र दे दिया था। वहीं बेरमो विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजेंद्र प्रसाद सिंह के निधन के कारण हो रहा है। लंबी बीमारी के कारण लॉक डाउन अवधि में उनका निधन हो गया था। दोनों ही सीटों पर यूपीए का कब्जा था। इसलिए यह उपचुनाव सत्तारूढ़ गठबंधन के लिए प्रतिष्ठा से जुड़ा है। वहीं मुख्य विपक्षी दल   भाजपा  भी उपचुनाव के माध्यम से अपनी खोयी ताकत को प्राप्त करने की कोशिश करेगी।
;

-sponsored-

Comments are closed.