By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

आरएसएस जासूसी मामले के बाद क्या कर रहे हैं गिरिराज सिंह, ट्वीट नहीं ‘रिट्वीट बम फोड़ रहे हैं’

- sponsored -

इस खबर को लेकर बिहार की राजनीति उबल रही है कि सरकार आरएसएस और उसके सहयोगी संगठनों की विस्तृत जानकारी विशेष शाखा से चाहती है। हांलाकि इस मामले में अब बिहार पुलिस प्रवक्ता की सफाई आई है कि जिनके बारे में जानकारी मांगी गयी उनकी जान को खतरा था।

Below Featured Image

-sponsored-

आरएसएस जासूसी मामले के बाद क्या कर रहे हैं गिरिराज सिंह, ट्वीट नहीं ‘रिट्वीट बम फोड़ रहे हैं’

सिटी पोस्ट लाइवः इस खबर को लेकर बिहार की राजनीति उबल रही है कि सरकार आरएसएस और उसके सहयोगी संगठनों की विस्तृत जानकारी विशेष शाखा से चाहती है। हांलाकि इस मामले में अब बिहार पुलिस प्रवक्ता की सफाई आई है कि जिनके बारे में जानकारी मांगी गयी उनकी जान को खतरा था। लेकिन जिस तरीके से जानकारी मांगी गयी है उसकी जांच होगी। लेकिन बीजेपी के अंदरखाने इस बात को लेकर नाराजगी है। कल पूरे दिन बीजेपी नेताओं की तीखी प्रतिक्रिया इस मामले पर आती रही। लेकिन गिरिराज सिंह इस पूरे मामले को लेकर खामोश रहे। इफ्तार को लेकर अपने ट्वीट से बीजेपी-जेडीयू के बीच के रिश्तों को गरमा देने वाले गिरिराज सिंह संभवतः इस वजह से भी खामोश रहे हों क्योंकि उनके बयान के बाद एनडीए का बवाल और उफान पर आ जाता इसके साथ हीं उनके पुराने बयानों पर शीर्ष नेतृत्व ने उन्हें ऐसे बयान न देने को कहा हो।

लेकिन गिरिराज सिंह तो गिरिराज सिंह हैं पूरी तरह शांत रहने वाले कहां है। उन्होंने ट्वीट नहीं किया है बल्कि रिट्वीट किया है बीजेपी के नेताओं के उन बयानों को जो नीतीश कुमार को लेकर दिये गये हैं और उन पर करारा हमला किया गया है। मसलन गिरिराज सिंह ने भाजयुमो के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संतोष रंजन राय के ट्वीट को रिट्वीट किया है जिसमे उन्होंने लिखा हे कि कहां घिनौनी राजनीति में लगे पड़े हें माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी..समाज सेवा में लगे संघ एवं संघ के लोगों की जांच करवाकर क्या मिलेगा?? बिहार बाढ़, अपराध और बेरोजगारी की चपेट में है उसका संज्ञान लीजिए..कुछ काम कीजिए। आपके पास नया आइडिया खत्म हो गया है।’

Also Read

-sponsored-

गिरिराज ने बीजेपी के उन दूसरे नेताओं के ट्वीट को भी रिट्वीट किया है जिन्होंने इस पूरे मामले को लेकर नीतीश पर तीखा वार किया है। खबर यह भी है कि गिरिराज सिंह सहित बीजेपी में वैसे नेताओं की एक बड़ी संख्या है जो चाहते हैं कि बीजेपी नीतीश और उनकी पार्टी जेडीयू से अपना नाता तोड़ ले। बीजेपी एमएलसी सच्च्दिानंद राय पहले हीं यह कह चुके हैं कि नीतीश कुमार पर भरोसा नहीं किया जा सकता क्योंकि भाजपा जेडीयू का रिश्ता तेल और पानी की तरह है और नीतीश तेल की तरह हमेशा उपर रहना चाहते हैं।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.