By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

‘राम’ पर ये क्या बोल गये राजद विधायक, गाली-गलौज तक गिरा सियासत का स्तर

Above Post Content

- sponsored -

सियासी बयानवीरों की जुबान जब फिसल जाती है तो अक्सर वैसे शब्द बाहर आते हैं जो कहीं से भी मर्यादा की परिधि में नहीं होते। अमर्यादित बयानों सियासत शर्माती भी है और गरमाती भी है।

Below Featured Image

-sponsored-

‘राम’ पर ये क्या बोल गये राजद विधायक, गाली-गलौज तक गिरा सियासत का स्तर

सिटी पोस्ट लाइवः सियासी बयानवीरों की जुबान जब फिसल जाती है तो अक्सर वैसे शब्द बाहर आते हैं जो कहीं से भी मर्यादा की परिधि में नहीं होते। अमर्यादित बयानों सियासत शर्माती भी है और गरमाती भी है। बदलते वक्त के साथ राजनीति का मिजाज भी बदला है और सियासत में थोड़े सांस्कारिक बदलाव भी आए है। इसलिए अक्सर नेता मयार्दा लांघ जाते हैं। इस बार जुबान फिसली है राजद विधायक भाई वीरेन्द्र की। राम मंदिर पर देश की सियासत गर्म है और इस पर आने बयान गर्माहट को और बढ़ा रहे हैं। इसी कड़ी में आज राजद विधायक भाई वीरेन्द्र राम और हनुमान को लेकर बीजेपी पर हमला बोला लेकिन राजनीतिक हमले की तल्खी में उनकी जुबान फिसल गयी और कुछ ऐसा बोल गये कि न हम आपको सुना सकते हैं और न हीं उसका जिक्र अक्षरशः यहां कर सकते हैं।

मौसम चुनाव का है। 2019 में देश में लोकसभा के चुनाव होने हैं और 2020 में बिहार विधानसभा के चुनाव होने हैं ऐसे में इन चुनावों के दौरान भाषायी स्तर का अंदाजा सहज लगाया जा सकता है। चुनावों में कैसे और किस स्तर तक जाकर अपने राजनीतिक विरोधियों पर हमले किये जाएंगे यह समझना मुश्किल नहीं है। विवादित और बिगड़े बोल चुनाव जीतने की गारंटी तो नहीं हैं ना हीं ऐसा कोई उदाहरण है कि ऐसे बयानों से राजनीतिक दलों को फायदा होता हो बल्कि नुकसान का डर हमेशा होता है बावजूद इसके चुनावी मौसम में ऐसे अमर्यादित बयान सामने आते हैं। जाहिर है ऐसे बयानों वाले दौर में चाहे चुनाव कोई जीते लेकिन हारता लोकतंत्र हीं है।

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.