By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

प्रशांत किशोर पर कांग्रेस को है भरोसा, कन्हैया और तेजस्वी में कौन बड़ा नेता मदन मोहन झा ने बताया

- sponsored -

बिहार के सियासी गलियारों में यह सवाल लगातार टहल रहा है कि कन्हैया कुमार और तेजस्वी यादव में बड़ा नेता कौन है। सवाल प्रशांत किशोर को लेकर भी है कि वे जेडीयू और बीजेपी की राह कितनी मुश्किल कर पांएगे? बिहार कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने इन सवालों के जवाब दिए हैं।

Below Featured Image

-sponsored-

प्रशांत किशोर पर कांग्रेस को है भरोसा, कन्हैया और तेजस्वी में कौन बड़ा नेता मदन मोहन झा ने बताया

सिटी पोस्ट लाइवः बिहार के सियासी गलियारों में यह सवाल लगातार टहल रहा है कि कन्हैया कुमार और तेजस्वी यादव में बड़ा नेता कौन है। सवाल प्रशांत किशोर को लेकर भी है कि वे जेडीयू और बीजेपी की राह कितनी मुश्किल कर पांएगे? बिहार कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने इन सवालों के जवाब दिए हैं। सिटी पोस्ट लाइव के एडिटर इन चीफ श्रीकांत प्रत्यूष से बातचीत करते हुए मदन मोहन झा ने कहा कि अच्छा वक्ता होना और नेता होना दोनों में अंतर होता है।

कन्हैया जो आंदोलन कर रहे हैं उसमें कांग्रेस का नैतिक समर्थन है। जनता जिसको चाहती है उसको नेता बनाती है। तेजस्वी और कन्हैया के बीच कौन बड़ा नेता इसका फैसला जनता करेगी हम कोई तुलना नहीं करना चाहते। दिल्ली में प्रशांत किशोर के साथ महागठबध्ंान के नेताओं के साथ हुई बैठक को लेकर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि हमें महागठबंधन की बैठक की जानकारी नहीं। जब चार आदमी बैठते हैं तब बात होती है। इस बैठक से क्या निकलकर सामने आएगा उस पर अपनी प्रतिक्रिया देंगे। राजनीतिक दबाव के लिए कांग्रेस काम नहीं करती है हम राज्य के हित में काम करेंगे। महागठबंधन में काॅर्डिनेशन कमिटी बनने को लेकर मदन मोहन झा ने कहा कि कार्डिनेशन कमिटी इस वजह से नहीं बन पायी क्योंकि महागठबध्ंान के कई नेता दिल्ली चुनाव में व्यस्त हो गये।

Also Read

-sponsored-

काॅर्डिनेशन कमिटी जल्द बन जाएगी। प्रशांत किशोर को लेकर मदन मोहन झा ने कहा कि कांग्रेस किसी पर निर्भर नहीं है। प्रशांत किशोर ने कहा है कि वे किसी दल में नहीं जाएगे और न नहीं कोई दल बनाएगे ऐसे में प्रशांत किशोर जब तक खुद कुछ तय नहीं करते वैसे में उनको बुलाने का कोई मतलब नहीं है। बिहार के हित में अगर प्रशांत किशोर काम कर रहे है, और बिहार के जन विरोधी सरकार को हटाने के लिए वे काम कर रहे हैं तो हम उनका स्वागत करते हैं। बिहार के हित के लिए जो भी काम करेगा उसका स्वागत है लेकिन प्रशांत किशोर का पाॅलिटिकल स्टैंड क्या होगा उसके बाद देखा जाएगा।

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.