By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

तेजस्वी को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने के पक्ष में क्यों नहीं हैं शिवानंद तिवारी?

HTML Code here
;

- sponsored -

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : तेजस्वी यादव को RJD के राष्ट्रिय अध्यक्ष बनाने की चल रही तैयारी के बीच पार्टी के वरिष्ठ नेता शिवानन्द तिवारी का एक बड़ा बयान सामने आ गया है.पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी (Shivanand Tiwari) ने आरजेडी में बदलाव और पार्टी की कमान तेजस्वी को सौंपने की चर्चा को मीडिया का शिगूफा बताया है. शिवानंद तिवारी ने तो यहां तक कह दिया कि पार्टी में क्यों बदलाव होगा? तेजस्वी तो हमारे पहले से ही नेता हैं. उनके नेतृत्व में ही विधानसभा का चुनाव लड़ा गया.

शिवानंद तिवारी का कहना है कि विधानसभा चुनाव में कहीं कोई कमी तो नहीं दिखी. अगर तेजस्वी यादव राष्ट्रीय अध्यक्ष बन जाएंगे तो उससे क्या होगा? राजद को संभालना कोई पहाड़ का काम तो है नहीं. लेकिन अभी इसकी कोई जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि आज भी तेजस्वी यादव ही नेता हैं. लेकिन वे कभी नहीं चाहेंगे कि उनके पिता जो पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं उनसे यह पद ले लें. इसकी कोई जरूरत नहीं है और तेजस्वी ऐसा नहीं चाहेंगे.शिवानंद तिवारी ने कहा कि पार्टी की स्थापना दिवस पर सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव का जबरदस्त भाषण हुआ. मैंने सोचा नहीं था कि तबीयत खराब होने के बावजूद वे इतना शानदार भाषण दे सकेंगे. लेकिन उन्होंने पूरी तरीके से पॉलिटिकल भाषण दिया. हमारी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के पास जो तजुर्बा और अनुभव है वह स्कूल कॉलेज में नहीं पढ़ाया जाता. उनके अनुभव का लाभ बेटे तेजस्वी को मिल रहा है.

शिवानंद तिवारी ने कहा कि यह मीडिया का खयाली पुलाव है कि तेजस्वी राष्ट्रीय अध्यक्ष बन रहे हैं. अभी इसकी कोई जरूरत नहीं है.सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक तेजस्वी को राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर सीधे कुर्सी पर बैठाने की जगह यह काम चरणबद्ध तरीके से किया जाएगा. पहले तेजस्वी को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया जा सकता है. उसके बाद 2022 में राष्ट्रीय अध्यक्ष की कमान दी जाएगी. कोरोना की स्थिति थोड़ी बेहतर हो तो लालू प्रसाद यादव पटना पहुचेंगे और उसके बाद ही तेजस्वी यादव को बड़ी जिम्मेवारी देने की घोषणा होगी.

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.