By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

जेएमएम-शिवसेना से क्यों डरी जेडीयू, चुनाव आयोग से जेडीयू नेताओं ने कही यह बात…

- sponsored -

शिवसेना और झारखंड मुक्ति मोर्चा से क्या जेडीयू डर गयी है? इन दोनों पार्टियों से आखिर जेडीयू को किस नुकसान का खतरा है? यह सवाल इसलिए है क्योंकि जेडीयू ने चुनाव आयोग से इन दो दलों के बारे में कुछ कहा है। दरअसल चुनाव आयोग की टीम इन दिनों बिहार में है और कल चुनाव आयोग की टीम में बिहार के सभी राजनीतिक दलों के साथ बैठक की।

Below Featured Image

-sponsored-

जेएमएम-शिवसेना से क्यों डरी जेडीयू, चुनाव आयोग से जेडीयू नेताओं ने कही यह बात…

सिटी पोस्ट लाइवः शिवसेना और झारखंड मुक्ति मोर्चा से क्या जेडीयू डर गयी है? इन दोनों पार्टियों से आखिर जेडीयू को किस नुकसान का खतरा है? यह सवाल इसलिए है क्योंकि जेडीयू ने चुनाव आयोग से इन दो दलों के बारे में कुछ कहा है। दरअसल चुनाव आयोग की टीम इन दिनों बिहार में है और कल चुनाव आयोग की टीम में बिहार के सभी राजनीतिक दलों के साथ बैठक की। स्थानीय लेमन ट्री होटल परिसर में आयोग की बैठक में जदयू, भाजपा, राजद, लोजपा, कांग्रेस, माकपा, भाकपा समेत तकरीबन दर्जन भर पार्टियों ने अपने सुझाव भी दिये. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो जदयू की ओर से वरिष्ठ मंत्री राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह, राष्ट्रीय महासचिव संजय झा और राष्ट्रीय सचिव रवींद्र सिंह ने आयोग से कहा कि उनकी पार्टी का चुनाव चिह्न शिवसेना और झारखंड मुक्ति मोरचा से मिलता-जुलता है. इस कारण उनके वोटर भ्रमित हो जाते हैं.

पिछले चुनाव में जदयू को 52 हजार वोट का नुकसान हो गया था. पार्टी नेताओं ने आयोग से इस समस्या के निराकरण की मांग की. भाजपा और जदयू समेत कई पार्टियों ने कहा कि मतदाता सूची की खामियां गिनाते हुए कहा कि इसे दुरुस्त किया जाये. पहचानपत्र में बीएलओ द्वारा दिये गये वोटर स्लीप के साथ पहचान के लिए कोई और भी विकल्प दिये जाने की मांग की.

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.