By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

क्यों मांझी से मिलने पहुँच गये तेजप्रताप यादव, RJD के दावे में कितना दम?

HTML Code here
;

- sponsored -

RJD सुप्रीमो लालू यादव के जन्म दिन के दिन आज बिहार की राजनीति खास असर दिखा.लालू समर्थक लालू यादव का जन्म दिन अपने अपने अंदाज में मना रहे थे इधर लालू यादव के बड़े बेटे हम पार्टी सुप्रीमो जीतन राम मांझी से मिलने पहुँच गये.

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : RJD सुप्रीमो लालू यादव के जन्म दिन के दिन आज बिहार की राजनीति खास असर दिखा.लालू समर्थक लालू यादव का जन्म दिन अपने अपने अंदाज में मना रहे थे इधर लालू यादव के बड़े बेटे हम पार्टी सुप्रीमो जीतन राम मांझी से मिलने पहुँच गये. खबर के अनुसार आधे घंटे तक की मुलाक़ात के दौरान तेजप्रताप यादव ने फोन पर मांझी की बात लालू यादव से भी कराई.फिर क्या था अटकलों का बाज़ार गर्म हो गया.क्या मांझी के साथ मिलकर लालू यादव कोई नया खेल खेलनेवाले हैं? क्या मांझी NDA को अलविदा कहनेवाले हैं.अगर तेजप्रताप की जगह तेजस्वी यादव मांझी से मिले होते तो संभावना और ज्यादा प्रबल हो जाती.

इस मुलाकात का कोई खास नतीजा निकलेगा इसकी संभावना बहरहाल कम ही है. लेकिन इस मुलाक़ात के बाद राजद ने एनडीए को अपनी सरकार बचाने की खुली चुनौती दे डाली है.RJD प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि, समझने वाले समझ गये, जो न समझे वह अनाड़ी है. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव कई बार यह कह चुके हैं कि जीतन राम मांझी हमारे अभिभावक हैं. दरअसल सूबे के सियासी गलियारे में इस मुलाकात के बाद बवाल मचा हुआ है.RJD प्रवक्ता ने तो यहां तक कह दिया कि जीतनराम मांझी भले ही सशरीर एनडीए में हैं लेकिन उनका दिल लालू प्रसाद की विचारधारा के साथ हैं. लालू प्रसाद के विचारधारा की लड़ाई, जीतनराम मांझी ने साथ रहकर लड़ी है. उनका एनडीए में दम घुट रहा है. उन्होंने चुनौती देते हुए कहा कि एनडीए अगर सरकार को बचा सकता है तो बचा कर दिखाये.

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.